राजेंद्र बाबू से ही मिली पीढ़ियों को प्रेरणा - पीएम मोदी

By Lav Gadkari
Dec 03 2017 02:29 PM
राजेंद्र बाबू से ही मिली पीढ़ियों को प्रेरणा - पीएम मोदी

नईदिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद की 133 वीं जन्मजयंती पर ट्वीट किया गया। उन्होंने अपने ट्विटर संदेश में लिखा कि भारतीय पीढ़ियों को राजेंद्र प्रसाद से ही प्रेरणा मिलती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा कि महात्मा गांधी से प्रेरित होकर, डाॅ. राजेंद्र प्रसाद देश के स्वाधीनता संग्राम का सक्रिय भाग बनें, उन्होंने असहयोग आंदोलन जेसे जमीनी स्तर के आंदोलन में भागीदारी की।

उन्होंने राष्ट्रपति के तौर पर संविधान सभा का नेतृत्व भी किया। देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद का जन्म 3 दिसंबर 1884 को जिरादेई, बंगाल प्रेसिडेंसी में हुआ था। यह क्षेत्र अब बिहार राज्य के अंतर्गत आता है। राजेंद्र प्रसाद के पूर्वज उत्तरप्रदेश राज्य के कुआंगांव के अमोढ़ा क्षेत्र के निवासी थे। वे कायस्त परिवार में जनमे थे। परिवार कालांतर में बिहार में जाकर बस गया था।

राजेंद्र प्रसाद के पिता महादेव सहाय थे। वे संस्कृत और फारसी भाषा के विद्वान थे। उनकी माता का नाम कमलेश्वरी देवी था। जो कि एक धर्मपरायण महिला थीं। उन्होंने बचपन में ही मौलवी साहब से फारसी भाषा की शिक्षा ग्रहण की थी। वे अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू और फारसी के साथ बंगाली भाषा के जानकार भी थे और इन भाषाओं के साहित्य को भी वे जानते थे। वर्ष 1912 में उनहोंने अभा साहित्य सम्मेलन के अधिवेशन में भाग लिया था। वे महात्मा गांधी वे प्रेरित थे और उनसे प्रभावित होकर स्वाधीनता आंदोलन में कूद गए थे।

पीएम मोदी का तूफानी दौरा आज

फिर गुजरात में नज़र आऐंगे कांग्रेस के युवराज

बिहार में गहरा रहा ट्विटर वाॅर