'प्लीज़ मुझे यहाँ से निकालो..', आतंकी हमास ने जारी किया इजराइल की बंधक महिला का पहला Video

'प्लीज़ मुझे यहाँ से निकालो..', आतंकी हमास ने जारी किया इजराइल की बंधक महिला का पहला Video
Share:

यरूशलम: सोमवार (16 अक्टूबर) को, आतंकी संगठन हमास के उग्रवादियों ने एक इजरायली बंदी का फुटेज जारी किया है। बताया जा रहा है कि, यह इजराइली बंधक का पहला वीडियो है, जिसे हमास ने जारी किया है। हालाँकि, वीडियो में दावा किया जा रहा है कि, आतंकी समूह अल-कसम ब्रिगेड के सदस्य उस महिला को चिकित्सा सहायता दे रहे हैं। इस घटनाक्रम की रिपोर्ट जेरूसलम पोस्ट ने दी थी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कैद में रखी गई महिला की पहचान शोहम की मिया शेम नाम की 21 वर्षीय महिला के रूप में की गई है, जिसे वीडियो में दिखाया गया है। वीडियो में महिला, दर्शकों को अपनी भलाई के बारे में आश्वस्त करती है। वीडियो में पीड़ित महिला कह रही है कि, "वे (आतंकी) मेरी देखभाल कर रहे हैं, मेरी 3 घंटे तक सर्जरी की गई है, मैं केवल यही प्रार्थना करती हूं कि आप मुझे जितनी जल्दी हो सके यहां से बाहर निकालें। कृपया।" 

 

हालाँकि, इसकी पूरी आशंका है कि, महिला को डरा-धमकाकर ये बयान दिलवाया गया है। वीडियो में नज़र आ रहा है कि, महिला के हाथ पर कंधे से कलाई तक पट्टी बंधी हुई है। सूत्रों के अनुसार, मिया शेम को हमास के आतंकियों ने 7 अक्टूबर को अपने हमले के पहले ही दिन पकड़ लिया गया, जिसने बाद में चल रहे इज़राइल-हमास संघर्ष को जन्म दिया। बता दें कि, हमास ने कई इजराइली लोगों को बंधक बना लिया था,  बताया जा रहा है कि, अब भी 199 लोग उसके कब्जे में हैं।

महिलाओं के साथ हमास की बर्बरता:-

वहीं, हमास के हमले में इजराइल के जो लोग मारे गए हैं, उनकी भी फॉरेंसिक रिपोर्ट सामने आई है। इजरायली अधिकारियों ने बताया है कि इजरायल में सैन्य फोरेंसिक टीमों ने गाजा पट्टी के आसपास के समुदायों पर पिछले हफ्ते के हमास आतंकवादी हमले के पीड़ितों के शवों का परिक्षण किया है। फोरेंसिक विश्लेषण के दौरान, उन्हें यातना, बलात्कार और अन्य अत्याचारों के कई संकेत मिले हैं। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, लगभग 1,300 शवों को मध्य इज़राइल के रामल्ला में एक सैन्य अड्डे पर लाया गया था। सेना अड्डे पर, मृतक पीड़ितों की पहचान और उनकी मृत्यु की परिस्थितियों का निर्धारण करने के लिए विशेषज्ञ टीमों द्वारा फोरेंसिक विश्लेषण किया गया।

पूर्व सेना प्रमुख रब्बी इज़राइल वीस उन अधिकारियों में से एक हैं, जो मृतकों की पहचान की निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लगभग 90% सैन्य मृतकों की पहचान कर ली गई है और टीमें नागरिकों की पहचान करने के आधे चरण में हैं। उन्होंने कहा कि कई शवों पर यातना के साथ-साथ बलात्कार के भी निशान दिखे हैं। पत्रकारों से बात करते हुए, एक रिज़र्व वारंट अधिकारी अविगायिल ने कहा कि, "हमने हाथ और पैर कटे हुए क्षत-विक्षत शव देखे हैं, जिन लोगों का सिर काट दिया गया था, एक बच्चा जिसका सिर काट दिया गया था।" उन्होंने कहा कि शवों की फोरेंसिक जांच में बलात्कार के कई मामले पाए गए। इन शवों को प्रशीतित कंटेनरों में संग्रहित किया गया है। एक सैन्य दंत चिकित्सक  कैप्टन मायन ने कहा कि, “हमारे पास मौजूद सभी साधनों से हम पहचान करते हैं। हम उन्हें दुर्व्यवहार की गंभीर अवस्था में देखते हैं। हम गोलियों की आवाजें देखते हैं और हम ऐसे संकेत देखते हैं जो पूरी तरह से यातना हैं।''

युद्ध के बीच दूसरी बार इजराइल दौरे पर पहुंचे अमेरिकी विदेश मंत्री, पीएम नेतन्याहू से करेंगे मुलाकात

आतंकियों से लड़ रही अपनी सेना के लिए राशन केंद्र चला रहे इजराइल के आम नागरिक, दुनिया कर रही इस देशभक्ति की तारीफ, Video

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद रिज़वान के खिलाफ ICC में दर्ज हुई शिकायत, मैच के दौरान मैदान पर पढ़ी थी 'नमाज़'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -