सपा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने पार्टी छोड़ कहा, यहाँ दम घुटता है

सपा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने पार्टी छोड़ कहा, यहाँ दम घुटता है

लखनऊ : समाजवादी पार्टी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है सपा की तेज तर्रार प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया है. मामला यह है कि  सोमवार 27 अगस्त को समाजवादी पार्टी ने अपने नए प्रवक्ताओं की सूची जारी करने का ऐलान किया था और इस नै सूची में 24 लोगों को शामिल किया था. इस नई सूची में पंखुड़ी पाठक का नाम शामिल नहीं किया गया था. 

इस नई सूची के जारी होने के कुछ देर बाद ही पंखुड़ी पाठक ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए अपने ट्विटर अकाउंट से कहा कि 'भारी मन से सभी साथियों को सूचित करना चाहती हूँ कि @samajwadiparty के साथ अपना सफ़र मैं अंत कर रही हूँ. 8 साल पहले विचारधारा व युवा नेतृत्व से प्रभावित हो कर मैं इस पार्टी से जुड़ी थी लेकिन आज ना वह विचारधारा दिखती है ना वह नेतृत्व. जिस तरह की राजनीति चल रही है उसमें अब दम घुटता है'

इसके बाद उन्होंने अपने अगले ट्वीट में कहा 'कभी जाति कभी धर्म तो कभी लिंग को ले कर जिस तरह की अभद्र टिप्पणियाँ लगातार की जाती हैं और पार्टी नेतृत्व सब कुछ जान कर भी शांत रहता है यह दिखता है कि नेतृत्व ने भी इस स्तर की राजनीति को स्वीकार कर लिया है. ऐसे माहौल में अपने स्वाभिमान के साथ समझौता कर के बने रहना अब मुमकिन नहीं है.' अगले ट्वीट में उन्होंने कहा 'मुझे पता है कि इसके बाद मेरे बारे में तरह तरह की अफ़वाहें फैलायी जाएँगी लेकिन मैं स्पष्ट करना चाहती हूँ कि मैं किसी भी राजनैतिक दल से सम्पर्क में नहीं हूँ ना ही किसी से जुड़ने का सोच रही हूँ. अन्य ज़िम्मेदारियों के चलते जो उच्च शिक्षा अधूरी रह थी अब उसे पूरा करने का प्रयास करूँगी.'

खबरे और भी...

मुस्लिम महिला के राखी बांधने पर उठा बवाल

राखी के दिन हर साल लगती है यहां लाखों श्रद्धालुओं की भीड़

एमपी: अब तक 25 सालों में यहां से नहीं जीत पाई कांग्रेस, अब भी राह मुश्किल

?