इंदौर से दो पाकिस्तानी भाई को पुलिस ने धर दबोचा

मेरठ : मेरठ के पल्लवपुरम की आनंद निकेतन कालोनी से दो पाकिस्तानी भाइयों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि दोनों भाई करीब एक साल से बिना पुलिस को सूचित किए इंदौर में रह रहे थे. खबरों की माने तो दोनों भाइयो को गिरफ्तार कर कोर्ट ने दोनों को जेल भेज दिया है.

सूत्रों के मुताबिक भारत-पाकिस्तान बंटवारे के समय राधेश्याम नाम का युवक अपने माता पिता के साथ पाकिस्तान के जिला कलात के मस्तूग शहर में रह रहे थे लेकिन माता पिता की मौत के बाद राधेश्याम और उसकी पत्नी निर्मला अपने बेटे के साथ वापस भारत लौट आये और वीजा की अवधि समाप्त होने के बाद भी वह दिल्ली में ही निवास करते रहे. इस दौरान राधेश्याम के घर में एक और बच्चे का जन्म हुआ और पूरा परिवार मेरठ के पटेलनगर में रहने लगा.

इस दौरान राधेश्याम के दोनों पुत्रो की शादी हो गई और वे अपनी पत्नी के साथ पूरा परिवार जून 2017 में पुलिस को बिना सूचना दिए इंदौर में बस गया. बताया जा रहा है कि राधेश्याम और निर्मला के लगातार दस साल रहने पर भी दोनों को भारत की नागरिकता नहीं मिल पाई. दरअसल राधेश्याम के दोनों पुत्र बीच-बीच में पाकिस्तान आते-जाते रहते थे जिस वजह से उन्हें भारत की नागरिकता नहीं मिल पाई. गौरतलब है कि पुलिस विदेशी अधिनियम के अनुसार दस वर्ष तक बिना अपराध किए देश में रहने वाले व्यक्ति नागरिकता मिल जाती है लेकिन दोनों भाइयों ने इसका उल्लंघन किया जिसके चलते उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

खबरें और भी..

सिम फर्जीवाड़े पर लगेगी रोक, UIDAI जल्द शुरू करेगी चेहरा पहचानने की सुविधा

अलवर के बढ़ते अपराधों की रोकथाम हो सकती है ये फिल्म

आज दोपहर की सुर्खियां विस्तार से..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -