अफगानिस्तान को भूखे मारना चाहता है पाकिस्तान ? भारत द्वारा भेजे गए 50 मीट्रिक टन गेंहू को अटकाया

नई दिल्ली: पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के लिए मानवीय मदद के तौर पर 50 हजार मीट्रिक टन गेहूं को वाघा बॉर्डर से भारतीय या अफगान के ट्रकों में ले जाने के भारतीय प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि नई दिल्ली ‘असंभव’ विकल्पों का सुझाव देकर अपना हाथ खींच रही थी.

आधिकारिक सूत्रों ने मीडिया को बताया कि भारत जानबूझकर वाघा बॉर्डर से मानवीय मदद ले जाने के लिए पाकिस्तानी तौर-तरीकों के संबंध में ‘गलत सूचना’ फैला रहा है. पाकिस्तान ने प्रस्ताव दिया कि संयुक्त राष्ट्र (UN) के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के बैनर तले ट्रकों को भारत से अफगानिस्तान तक गेहूं और अन्य जरुरी चीज़ों का परिवहन करना चाहिए. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि पाकिस्तान पहले ही WFP से बात कर चुका है और UN की एजेंसी इस योजना को अंजाम देने के लिए तैयार है.

अधिकारी का कहना है कि पाकिस्तानी तौर-तरीकों को शर्तों के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि ये अफगानिस्तान के लिए भारत की मानवीय मदद की सुविधा के लिए थे. भारत ने एक अलग प्रस्ताव देते हुए सुझाव दिया है कि गेहूं को भारतीय या पाकिस्तानी ट्रकों में अफगानिस्तान पहुंचा दिया जाना चाहिए. भारत के इस प्रस्ताव को पाकिस्तानी अधिकारी ने ठुकराते हुए कहा कि ये विकल्प संभव नहीं है.

महाराष्ट्र में ओमिक्रोन वैरिएंट से सनसनी, 25 अंतरराष्ट्रीय यात्री संक्रमित

गीता गोपीनाथ अगले साल की शुरुआत में आईएमएफ की पहली डिप्टी एमडी होंगी

नीति आयोग के अमिताभ कांत ने जेनेसिस इंटरनेशनल का डिजिटल ट्विन प्लेटफॉर्म लॉन्च किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -