असली कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में बड़ी सफलता, वैज्ञानिकों ने किया परिणामों का खुलासा

असली कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में बड़ी सफलता, वैज्ञानिकों ने किया परिणामों का खुलासा
Share:

पूरी दुनिया में महामारी कोरोना वायरस की दवा बनाई जा रही है. जिसको बनाने में    ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी सबसे आगे चल रही है. कोरोना वैक्सीन बनाने के काम में  ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी लगभग कामयाब ही होने वाली है. इस खोज से जुड़े एक प्रमुख वैज्ञानिक ने बुधवार को बताया कि वैज्ञानिकों की टीम को अपने परीक्षणों(ट्रायल) में प्रतिरोधी प्रतिक्रिया को लेकर अब तक सकारात्मक परिणाम मिले है. लेकिन वैज्ञानिक ने इसके साथ ही कोरोना वैक्सीन तैयार होने के लिए एक निश्चित समय सीमा देने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि हम ये नहीं सकते कि यह कब तक तैयार हो सकता है.

होटल ताज को उड़ाने की धमकी के बाद दमन में मिली संदिग्ध बोट, मचा हड़कंप

विश्वविद्यालय में वैक्सीनोलॉजी की प्रोफेसर सारा गिल्बर्ट ने बताया कि 8000 स्वयंसेवकों को दवा AZD1222 में इसके परीक्षण के फेज- III के लिए नामांकित किया गया था, जिसे एस्ट्राज़ेनेका का लाइसेंस दिया गया था. गिल्बर्ट ने कहा कि हम बहुत खुश हैं कि हम प्रतिरोधी प्रतिक्रिया के खिलाफ अच्छा रिस्पॉन्स देख रहे हैं. यह कोरोना के खिलाफ मरीजों को सुरक्षा देगा. यह सही तरीके से काम कर रहा है, गलत प्रकार नहीं.

तूतीकोरिन कस्टोडियल डेथ केस: SI सहित चार पुलिसकर्मी गिरफ्तार, लोगों ने मनाया जश्न


इसके अलावा ऑक्सफोर्ड की शोधकर्ता सारा गिल्बर्ट ने कहा कि कोरोना की दवा खोजने के बाद मानव ट्रायल का तीसरा चरण प्रारंभ हो गया है. जिसके तहत कोरोना वैक्सीन का परीक्षण प्रारंभ हो गया है. यह देखा जा रहा है कि 18 साल से अधिक आयु के लोगों में वैक्सीन कैसे काम करता है और यह वैक्सीन कोरोना से संक्रमित लोगों को अस्वस्थ होने से बचाने के लिए कितना अच्छा काम करता है. वही, फिलहाल कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित करने की दौड़ जारी है. यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि उत्तरी गोलार्ध के सर्दियों के मौसम में इस साल के अंत तक कोरोना के मामलों में तेजी आने की आशंका जताई गई है. ब्रिटेन सरकार की वैक्सीन टास्कफोर्स की अध्यक्ष केट बिंघम ने कहा है कि ऑक्सफोर्ड  कार्यक्रम को छोड़कर, उन्हें उम्मीद है कि 2021 की शुरुआत में कोरोना वैक्सीन को लेकर सफलता मिलेगी. ऑक्सफोर्ड की वैज्ञानिक सारा गिल्बर्ट ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उनका ऑक्सफोर्ड टीका पहले बन जाए, लेकिन वह अधिक विशिष्ट नहीं होगा क्योंकि टीके के विकसित होने का समय मानव परीक्षण के परिणामों पर निर्भर करेगा.

प्रवासी श्रमिकों को अब तक नहीं मिला मई-जून महीने का मुफ्त अनाज, ये है कारण

कांवड़ यात्रा पर हरिद्वार पहुंचे भक्तों को रहना होगा क्वारंटाइन, नहीं मिलेगा जल

देश में 6 लाख के पार पहुंचे कोरोना केस, मृतकों के आंकड़े ने डराया

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -