पाक सरकार ने उड़ाई मानवाधिकार की धज्जिया, भारत को लेकर कही ये बात

पाक सरकार ने उड़ाई मानवाधिकार की धज्जिया, भारत को लेकर कही ये बात

इस्लामबाद: बलूचिस्तान और गुलाम कश्मीर में लोगों पर वशहत करने वाले पाक ने जम्मू और कश्मीर में कथित मानवाधिकार की धज्जीयां उड़ाने की ताक में बैठा है. पाक की नेशनल असेंबली में इसको लेकर एक तिरस्कार का प्रस्ताव जारी किया जा चुका है. पाक ने इस प्रस्ताव के द्वारा यह भी साफ़ कर दिया है कि वह इंडिया के आंतरिक मामलों में हमेशा ही दखलंदाजी करेगा और जम्मू-कश्मीर के लोगों का समर्थन करता रहेगा. पाक के पीएम इमरान खान ने कश्मीर के लोगों के समर्थन में ट्वीट भी किया है. 

दुनियाभर के अधिकतर देशों में कोई पाक की सुनने को तैयार नहीं: इंडिया ने बार-बार पाक से कहा है कि जम्मू-कश्मीर उसका समाकलित अंग है. वे इसके मुद्दे में दखल न दें. लेकिन पाक अपनी हरकतों से बाज नहीं आने वाला है. उसने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कश्मीर मामले पर  समाधान के लिए मांग की है. भारत ने जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त  किया था, तब भी पाक ने विलाप किया था. उसने अंतरराष्ट्रीय समुदाय के आगे खूब रोना भी रोया था, लेकिन एक-दो को छोड़कर किसी भी देश ने उसका समर्थन नहीं किया. 

इमरान के ऑफिस ने जनता से बोला सफेद झूठ, कहा- हमारी विदेश नीति सफल: इधर पाक के पीएम इमरान के दफ्तर ने अपनी जनता से सफेद झूठ बालते हुए कहा है कि भारत हमें वैश्विक स्‍तर पर अलग-थलग करने का प्रयास कर रहा है, लेकिन वो अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं हो सकता. हमारी विदेश नीति की सिद्धि के कारण अमेरिका समेत खाड़ी देशों से पाक के रिश्ते पक्के हो गए है. इतना ही नहीं, पाक के पीएम के ऑफिस ने झूठ बोलने की अब तो हद ही कर दी कहा कि विदेश नीति की सिद्धि की वजह से ही पाक के पीएम विश्‍व के सबसे प्रसिद्ध नेताओं में शुमार हैं. जबकि हालात यह है कि अमेरिका पहुंचने पर उनके अगवानी के लिए कोई नेता नहीं आया. उन्हें होटल तक का सफर भी मेट्रो में करना होगा. 

गिरा दी जाएगी 'कपूर' खानदान की ऐतिहासिक हवेली ! ऋषि कपूर से किया वादा तोड़ रही पाकिस्तान सरकार

कोरोना महामारी से प्रभावित हो रही बच्चो की शिक्षा

रिचर्ड वर्मा ने दिया बयान, भारत सहित पड़ोसियों के साथ चीन का व्यवहार उकसाने वाला