दिल्ली में घातक हुआ कोरोना, लगातार सामने आ रहे नए मामले

नई दिल्ली: राजधानी में कोविड संक्रमण के एक महीने में 21 हजार से अधिक सक्रिय मरीज बढ़ गई हैं। संक्रमितों के मुकाबले ठीक होने वालों की संख्या निरंतर कम होने से यह केस तेजी से बढ़ते जा रहे है।

दिल्ली स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इस वक़्त 32,250 सक्रिय मरीज हैं। 18 अगस्त को यह  संख्या 11068 थी। लिहाजा, एक माह में ही 21 हजार से अधिक केस बढ़ गए है। संक्रमण की शुरुआत से ही दिल्ली में सक्रिय केस बढ़ने लगे थे। 28 जून को जिनका आंकड़ा 29 हजार के करीब पहुंच गई थी। उसके उपरांत डेढ़ महीने में केसों में गिरावट आती रही और 4 अगस्त को जिनका आंकड़ा 10 हजार से भी नीचे चली गई थी। तब अनुमान लगाया जा रहा था कि सक्रिय मरीज और भी कम होते जाएंगे, लेकिन जिसके उपरांत से ही यह केस निरंतर बढ़ रहे हैं। राजधानी में ऐसा पहली बार है कि एक माह में ही 21 हजार से ज्यादा सक्रिय मरीज बढ़ रहे हो । इन मरीजों के बढ़ने से हॉस्पिटल में ही बेड भरने लगे हैं।

जिसके साथ ही होम क्वारंटाइन में रहने वाले मरीजों का आंकड़ा में भी 50 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि हो गई है। सक्रिय मरीजों का दोबारा तेज गति से बढ़ना संक्रमण की दूसरी लहर कहा जा रहा है। हालांकि, विशेषज्ञ इससे मना कर रहे हैं। अपोलो हॉस्पिटल के डॉक्टर यश गुलाटी कहते  हैं कि दैनिक संक्रमितों का आंकड़ा अब औसतन 4000 से अधिक हो गई है। जांच बढ़ने से केस बढ़ रहे हैं। जिसके मुकाबले कम मरीज ठीक हो रहे हैं। उम्मीद है कि इस माह के बाद सक्रिय मरीज फिर से कम हो रहे है।

इस बार फेस्टिवल सीजन में किस्त पर फोन खरीदना नहीं होगा आसान, कीमतों में होगी वृद्धि

इस वर्ष शारदीय नवरात्रि में इस कारण हो रही है देरी

7 साल बाद नेपाल में फिर शुरू होगी रेल सेवा, भारत से जनकपुर पहुंचे रेलों के दो सेट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -