अरविंद केजरीवाल को लेकर भी 'Fake News' फैला चुके हैं मोहम्मद ज़ुबैर

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने प्रोपेगंडा पोर्टल Altnews के सह संपादक मोहम्मद ज़ुबैर को गिरफ्तार कर लिया है। जुबैर पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा-153 (ऐसे कृत्य जिससे दंगे और उपद्रव होने की आशंका हो) और धारा-295 (किसी समाज द्वारा पवित्र मानी जाने वाली वस्तु का अपमान करना) के तहत कार्रवाई हुई है। अब दिल्ली की कोर्ट ने ज़ुबैर को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। बता दें कि मोहम्मद ज़ुबैर फेक न्यूज़ फैलाने के लिए भी जाने जाते हैं और उनका मीडिया पोर्टल भी हिंदुफोबिक खबरों के लिए कुख्यात है। हिन्दू-मुस्लिमों को आपस में भड़काने के अलावा ज़ुबैर राजनेताओं के विवदित बयानों पर झूठ का पर्दा डालने के लिए जाने जाते हैं। ऐसा उन्होंने दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल के लिए भी किया है। 

 

दरअसल, कुछ समय पहले कश्मीरी हिन्दुओं के वीभत्स नरसंहार को दर्शाती एक फिल्म रिलीज़ हुई थी द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files)।  जिसके बाद एक पूरी लॉबी इस फिल्म को झूठी और काल्पनिक बताने में जुट गई थी, इस लॉबी में खुद को दिल्ली का मालिक बताने वाले अरविन्द केजरीवाल का भी नाम था। उन्होंने भरी विधानसभा में कश्मीरी हिन्दुओं पर हुए अत्याचार पर अट्टहास करते हुए इस फिल्म को झूठी फिल्म करार दिया था, जिसकी काफी आलोचना हुई थी। इसी आलोचना के बीच मोहम्मद ज़ुबैर, केजरीवाल के बयान पर अपना झूठा फैक्ट चेक करने आ गए थे। इस मामले में ध्यान देने वाली बात यह भी थी कि यहाँ AAP कार्यकर्ता अपने मुखिया के 'झूठी फिल्म' वाले बयान का बचाव नहीं कर रहे थे, लेकिन खुद को निष्पक्ष  मीडिया संस्थान बताने वाले AltNews ने AAP के झूठ पर पर्दा डालने का जिम्मा उठा लिया था। 

AltNews ने दावा किया था कि विधानसभा में दिए गए भाषण में कहीं भी कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचारों को नकारा नहीं गया है। हालांकि, AltNews ने कहीं भी इसका जिक्र नहीं किया है कि कश्मीर में अत्याचार किया किसने ? लेकिन यह भी सच है कि AltNews क्यों कश्मीर में आतंकियों के अत्याचारों को उजागर करेगा? उसका काम तो इसे छिपाना है न, जो पूरा का पूरा इकोसिस्टम बीते 32 सालों से करता ही आ रहा है। AltNews का दावा है कि अरविंद केजरीवाल ने कहीं भी कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार को नकारा नहीं, मगर वो ये बताना भूल गया कि इन अत्याचारों को दिखाती फिल्म को ही उन्होंने ‘झूठी’ बताया था। 

विधानसभा में केजरीवाल समेत AAP विधायक, वीभत्स नरसंहार और पलायन की सच्ची घटनाओं पर आधारित ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर ठहाके लगाते हुए देखे गए और Altnews वाले यह साबित करने में जुटे थे कि उन्होंने (केजरीवाल ने) कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचार का मजाक नहीं उड़ाया। अरविंद केजरीवाल ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ की बात करते हुए विधानसभा में कहा था, 'आप (भाजपा नेता) एक झूठी पिक्चर के पोस्टर लगाते हुए अच्छे नहीं लगते। ये आपको शोभा नहीं देता।' यही नहीं, इसका वीडियो तो खुद AAP ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया था। और वीडियो के कैप्शन में ये 'लाइन' भी बाकायदा लिखी थी। इसके बाद भी AltNews, किस वजह से यह झूठ फैला रहा है, यह सोचना अब जनता के ऊपर है। हाँ, ये हो सकता है कि जैसे ज़ुबैर ने केजरीवाल की गलती पर पर्दा डाला था, उसी तरह अब केजरीवाल भी ज़ुबैर को सच्चा पत्रकार बताते हुए उन्हें रिहा करने की मांग कर सकते हैं। 

हिन्दू-मुस्लिम को लड़ाने के लिए किस तरह Fake News चलाते हैं मोहम्मद ज़ुबैर, देखें ये मामला

नूपुर शर्मा करे तो ईशनिंदा, लेकिन वही काम अगर 'मोहम्मद ज़ुबैर' करे तो...

गुजरात दंगा: हिंसा पीड़ितों के नाम पर फंड जुटाकर खुद खा गई तीस्ता सीतलवाड़, करीबी ने किया खुलासा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -