सत्ता के नशे में चूर है मोदी सरकार

नई दिल्ली : अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की कार्यकारी समिति की बैठक आज हुई। बैठक मेें कांग्रेस ने प्रमुख तौर पर लोकप्रिय हिंदी समाचार चैनल एनडीटीवी पर लगाए गए एक दिन के बैन का विरोध किया, जिसमें उन्होंने कहा कि अब तो देश में विरोध करना भी लोकतंत्र के खिलाफ होने लगा है। कांग्रेस ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार दलित विरोधी है। मोदी सरकार सत्ता के नशे में चूर है।

दरअसल अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की वर्किंग कमेटी की बैठक कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी। जिसमें प्रमुख नेताओं ने अपनी-अपनी बात रखी। इस दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार सत्ता के नशे में चूर हो गई है। हालात ये हैं कि जो भी सरकार से असहमति जताते हैं उन्हें चुप रहने के लिए कहा जाता है। आम नागरिकों को राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में प्रशन पूछने के लिए धमकियां तक दी जाती हैं। दलितों और आदिवासियों पर अत्याचार जारी है। सरकार ने जम्मू कश्मीर और पाकिस्तान के मुद्दे पर सभी हदें की पार, दशकों बाद हुई इतनी मौतें। जाति और धर्म के आधार पर चुनाव लड़ती है बीजेपी।

उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि लोकतंत्र में यह काला दौर है कि समाचार चैनलों को सजा दी जा रही है। अभिव्यक्ति के अधिकार का हनन हो रहा है। वार्किंग कमेटी की बैठक में सीमा पार से पाकिस्तान की गतिविधियों पर भी चर्चा की गई। इस बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटोनी, पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस महासचिव दिग्विज सिंह आदि शामिल थे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इसमें शामिल नहीं हुईं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -