मेक्सिको अमेरिका सीमा विवाद

दिल्‍ली: अमेरिका ने यह भी साफ कर दिया है कि वह मेक्सिको से लगती करीब 3140 किमी 1951 मील की सीमा पर नेशनल सिक्‍योरिटी गार्ड तैनात करेगा. इसके लिए फिलहाल एरिजोना और टेक्‍सास ने 400 जवानों को भेजने का भी फैसला कर लिया है. इसके अलावा अब भी सीमा पर करीब 4000 जवानों की कमी रह जाएगी. आपको बता दें कि अमेरिका में अवैध तरीके से दाखिल होने वाले लोगों में 90 फीसदी मेक्सिको सीमा से अमेरिका में घुसते हैं. 

इस बाबत सामने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में करीब 60 लाख मेक्सिकन ऐसे में जो अवैध रूप से यहां पर रह रहे हैं जिनके पास कागजात तक नहीं हैं. इस बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने दावा किया है कि पिछले 45 वर्षों में इस बार पहली बार इस सीमा से अवैध घुसपैठ में जबरदस्‍त कमी आई है. इसके लिए उन्‍होंने वहां तैनात गार्ड को बधाई भी दी है. लेकिन इसके बाद भी समस्‍या पूरी तरह से थमी नहीं है. मेक्सिको से लगती सीमा पर हो रही अवैध घुसपैठ वर्षों पुराना विवाद है जो लगातार अमेरिका को परेशान किए हुए है. 

फिलहाल इससे ट्रंप को दो-चार होना पड़ रहा है. ट्रंप से पहले बराक ओबामा प्रशासन के दौरान भी यह सरकार के लिए सबसे बड़ी समस्‍याओं में से एक था. इसको लेकर 2010 में उन्‍होंने एक बिल पर साइन भी किए थे. इसके तहत सीमा सुरक्षा के लिए 600 मिलियन डॉलर निर्धारित किए गए थे. इसमें तैनात जवानों की संख्‍या में इजाफा करना भी शामिल था, लेकिन इतने बड़े तामझाम के बाद भी सीमा पर अवैध घुसपैठ में कोई कमी नहीं आई.

ब्राजील: पूर्व राष्ट्रपति लूला का आत्मसमर्पण

ड्रायवर ने लॉटरी में जीते करोड़ो रूपए

न्यूयॉर्क: ट्रम्प टॉवर में लगी आग

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -