आज से शुरू हो रहा है मंगला गौरी व्रत, जानिए पूजा विधि

Jul 07 2020 05:20 PM
आज से शुरू हो रहा है मंगला गौरी व्रत, जानिए पूजा विधि

आप सभी को बता दें कि आज से यानी 7 जुलाई से मंगला गौरी व्रत शुरू हो रहा है. वहीं धर्म शास्त्रों के अनुसार अविवाहितों के अलावा यह व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए भी सौभाग्यशाली माना जाता है. इस दिन माता मंगला गौरी यानी पार्वती की पूजा करके मंगला गौरी की कथा सुनना चाहिए जिससे सौभग्य में वृद्धि होती है. इस व्रत को रखने से अविवाहित महिलाओं के विवाह में आ रही रुकावटें दूर हो जाती हैं. इसी के साथ इससे सुहागिनों को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति भी होती है. अब आज हम आपको बताते हैं इस व्रत की पूजा विधि.

पूजा विधि- इस दिन सुबह या शाम के समय नहाएं और भगवान शिव-पार्वती की पूजा करें. अब इसके बाद सौभाग्य और समृद्धि के लिए मंगला गौरी व्रत करने का संकल्प लें. अब आप मां मंगला गौरी यानी पार्वतीजी की मूर्ति स्थापित करें और मूर्ति को लाल कपड़े पर रखना चाहिए. अब इसके बाद उनको 16 मालाएं, लौंग, सुपारी, इलायची, फल, पान, लड्डू, सुहाग की सामग्री, 16 चूड़ियां और मिठाई चढ़ाई जाती है. ध्यान रहे कि पूजा में चढ़ाई गई सभी चीजें सोलह की संख्या में होनी चाहिए.

इसी के साथ 5 तरह के सूखे मेवे, 7 प्रकार के अनाज-धान्य (जिसमें गेहूं, उड़द, मूंग, चना, जौ, चावल और मसूर) आदि होना चाहिए. ध्यान रहे पूजा में आटे से बना दीपक घी जलाएं और पूजा, आरती करें. अब पूजा के बाद मंगला गौरी की कथा सुने और पांच साल तक मंगला गौरी पूजन करने के बाद पांचवें साल सावन के आखिरी मंगलवार को इस व्रत का उद्यापन कर दें.

सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' ने बना लिया रिकॉर्ड, बड़े-बड़े सेलेब्स रह गए पीछे

अब इस हॉलीवुड प्रोजेक्ट का हिस्सा बनी प्रियंका चोपड़ा

सुशांत केस में पुलिस ने कब्जे में ली बिल्डिंग की CCTV रिकॉर्डिंग