चिराग पासवान का विश्वास खो रहे नीतीश कुमार, चुनावी दौरे में दिया चौकाने वाला बयान

चिराग पासवान का विश्वास खो रहे नीतीश कुमार, चुनावी दौरे में दिया चौकाने वाला बयान

नीतीश कुमार और चिराग पासवान के बीच की बयान बाजी इन दिनों चर्चा की विषय बनी हुई है. चिराग लोक जनशक्ति पार्टी पार्टी के प्रमुख है. मीडिया पर चिराग की तल्खी चर्चा में है. बता दे कि वह साफतौर पर नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार के काम पर कड़वी टिप्पणी कर रहे हैैं. पिछले दिनों अपने नेताओं को उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग (VC) में कहा- चुनाव में हर स्थिति के लिए तैयार रहें. चिराग के इस रुख को विधानसभा चुनाव में अधिक सीट हासिल करने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है. जनता दल यूनाइटेड (JDU) का जवाब बहुत साफ है- वह एलजेपी को अपनी सीटें नहीं देगा, सीटों के बारे में वह भारतीय जनता पार्टी (BJP) से बातचीत करे.

'सुपर एनाकोंडा' के बाद पटरी पर दौड़ी 'शेषनाग', भारतीय रेलवे ने रचा नया इतिहास


इस पूरी तनातनी में ध्यान देने वाली बात यह है कि चिराग की तल्खी सीएम नीतीश कुमार को लेकर अधिक रहती है. जो उनके बयानों में सामने आ रही है. चिराग ने राज्य के कुछ जिलों की यात्रा के दौरान कानून और स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार की तीखी आलोचना की. गरीबों को मुफ्त अनाज के मामले पर चिराग के साथ केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी राज्य सरकार के प्रति सख्त हैं.

सिंधिया ने शिवराज को कहा टाइगर, दिग्गी राजा बोले- हम शेरों का शिकार किया करते थे...


आपकी जानकारी के लिए बता दे कि चिराग की नाराजगी के दो कारण बताए जा रहे है. पहला कारण- उन्हें शक है कि विस चुनाव में एलजेपी को लोकसभा चुनाव की सफलता को ध्यान में रखकर सीटें प्राप्त नही होने वाली है. दूसरा कारण- राज्यपाल कोटे से भरी जाने वाली विधान परिषद की 12 सीटों के मनोनयन के मामले में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के सहयोगी के नाते उनकी राय नहीं मांगी जा रही है. इस मामले में जेडीयू और बीजेपी के नेता ही आपस में ही बात कर रहे हैं. वैसे, बिना किसी की राय मांगे, चिराग ने इन 12 सीटों में से दो की मांग की है. उनकी राय है कि बाकी बची 10 सीटें जेडीयू व बीजेपी बराबरी से बांट लें. जेडीयू उनकी राय को तरजीह नहीं दे रहा है. उसका कहना है-सीटें तो जेडीयू व बीजेपी के बीच ही बंटेगीं. बीजेपी चाहे तो अपने हिस्से की सीटों में से एलजेपी को भी दे दे.

अब यहां पर शनिवार-रविवार को रहेगा टोटल लॉकडाउन, दुकानें खुलने का भी वक्त बदला

'ड्रैगन' पर नकेल कसने की तैयारी ! लद्दाख से लौटने के बाद पीएम मोदी कर सकते हैं बड़ी बैठक

कानपुर एनकाउंटर: पुलिसकर्मियों की शहादत पर सियासत तेज़, प्रियंका ने योगी सरकार को घेरा