कर्नाटक में तेज रहस्यमयी आवाज़ से दहशत में लोग, पुलिस बता रही- 'सुपर सोनिक बूम'

बैंगलोर: कर्नाटक के बेंगलुरू सहित कई जिलों में शुक्रवार (26 नवंबर 2021) की दोपहर रहस्मयी और बेहद तेज आवाज सुनाई दी। इसके बाद चारों ओर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। इस घटना को लेकर राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र (KSNDMC) ने बताया कि फिलहाल कहीं पर भूकंप के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। वहीं पुलिस ने इसे 'सुपरसोनिक बूम' बताया है। रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरू में यह घटना सुबह 11.50 से 12.15 बजे के बीच हेमीगेपुरा, केंगेरी, ज्ञानभारती, राजराजेश्वरी नगर और कग्गलीपुरा में हुई। स्थानीय लोगों ने तेज आवाज के झटके भी महसूस किए।

इस घटना को लेकर KSNDMC के डायरेक्टर ने एक वक्तव्य जारी किया। बयान में कहा गया था कि, “हेमीगेपुरा, केंगेरी, ज्ञानभारती, राजराजेश्वरी नगर और कागलीपुरा व बेंगलुरु के लोगों को आज 26 नवंबर 2021 को सुबह 11.50 बजे से दोपहर 12.15 बजे के बीच हल्के कंपन और तेज साउंड सुनाई दिया। उस अवधि के दौरान किसी भी प्रकार के भूकंपीय संकेतों को जानने के लिए हमारी भूकंपीय वेधशालाओं द्वारा डेटा का अध्ययन किया गया था। सीस्मोग्राफ, स्थानीय झटके / भूकंप के कोई संकेत नहीं दर्शाता है।' घटना के बाद कुछ लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से हालात के संबंध में बात की। कुछ लोगों ने बताया कि दरवाजे और खिड़कियाँ काँपने लगे थे। लोगों ने यह भी पुछा कि क्या यह एक और सोनिक बूम था। 

बता दें कि यह कोई पहली दफा नहीं है जब बेंगलुरू में इस प्रकार की रहस्यमयी आवाज सुनने को मिली है। इससे पहले इसी साल जुलाई में भी दक्षिण बेंगलुरू में रहस्यमयी तरीके से तेज ध्वनि सुनी गई थी। वह आवाज इतनी तेज थी के लोगों के घरों के खिड़की के कांच तक टूट गए थे। उससे पहले गत वर्ष मई 2020 में भी बेंगलुरू में इसी प्रकार की आवाज सुनाई दी थी। बहुत समय के बाद पता चला कि यह रहस्यमयी आवाज इंडियन एयरफोर्स के परीक्षण की उड़ान थी। इस दौरान फाइटर प्लेन ने आवाज की रफ़्तार से भी तेज रफ्तार से उड़ान भरी थी, जिससे ऐसी आवाज पैदा हुई थी।

क्या होता है सुपर सोनिक बूम ?

दरअसल, जब किसी चीज की स्पीड, ध्वनि की रफ़्तार से अधिक तेज होती है तो उसे सुपरसोनिक रफ्तार कहते हैं. यानी जब कोई चीज 332 मीटर प्रति सेंकेंड की रफ्तार से भी अधिक रफ़्तार से चलती है, तो इसकी स्पीड को सुपरसोनिक स्पीड कहते हैं. यदि इसे एअरक्राफ्ट से मिलाकर देखें तो, यदि किसी एअरक्राफ्ट की स्पीड 1225 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक तेज होती है तो वह सोनिक बूम पैदा करता है. दरअसल, विमान हवा में चलते वक़्त ध्वनि तरंगे उत्पन्न करता है. किन्तु जब तक इसकी स्पीड, ध्वनि की रफ्तार से कम होती है तब तक कोई फर्क नहीं पड़ता. मगर जैसे ही स्पीड, ध्वनि की रफ्तार से तेज हुई तो जिस जगह से भी यह विमान क्रॉस करता है, वहां किसी बड़े विस्फोट जैसी आवाज होती है.

सीनियर महिला राष्ट्रीय फुटबॉल चैम्पियनशिप केरल में शुरू होगी

कोरोना के नए वैरिएंट से दुनियाभर में दहशत, आज PM मोदी ने बुलाई हाई लेवल बैठक

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर आज भी राहत, जानिए आज का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -