जेपी नड्डा ने दिलीप घोष और बेबी रानी मौर्य को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किया नियुक्त

नई दिल्ली: BJP के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तराखंड की पूर्व राज्‍यपाल बेबी रानी मौर्य और पश्चिम बंगाल के पार्टी अध्‍यक्ष दिलीप घोष को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बन चुके है। वहीं दिलीप घोष के स्थान पर डॉ सुकांत मजूमदार को पश्चिम बंगाल भाजपा का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया है।  जहां इस बात का पता चला है बेबी रानी मौर्य ने इसी माह की शुरुआत में उत्तराखंड के राज्‍यपाल पद से इस्‍तीफा सौंप दिया था। राज्यपाल के रूप में बेबी रानी मौर्य का तकरीबन 2 वर्ष का कार्यकाल बाकी था, लेकिन जिसके पूर्व ही उन्होंने पद छोड़ दिया। उन्हें 2018 में उत्तराखंड का राज्यपाल नियुक्त कर दिया गया था।

बेबी रानी के इस्‍तीफ के उपरांत से ही ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि उन्‍हें यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में बड़ी जिम्‍मेदारी दी जाने वाली है। चर्चाएं ये भी हैं कि बेबी रानी को यूपी की सक्रिय राजनीति में फिर से लाया जानें वाला है। वहीं यह भी कहा जा रहा है कि बेबी रानी मौर्य दलित वर्ग से आती हैं और उनका प्रभाव भी बहुत अच्छा है। बेबी रानी मौर्य इससे पहले यूपी में आगरा की मेयर थीं। वर्ष 2007 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में वो चुनाव हार चुकीं थी। मौर्य 1995 में आगरा की मेयर के रूप में सेवा करने वाली पहली महिला थीं। वो 1990 के दशक में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई थी। 

वहीं वर्ष 2002 से 2005 के बीच उन्होंने राष्ट्रीय महिला आयोग में भी कार्य किया था। बेबी राना मौर्य ने प्रदीप कुमार से शादी की है, जो पंजाब नेशनल बैंक के सेवानिवृत्त निदेशक हैं और वर्तमान में बैंक के सलाहकार बोर्ड में काम करते थे। वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर दिलीप घोष का कार्यकाल इसी वर्ष समाप्त होने वाला था। भाजपा की परंपरा के मुताबिक अगर कोई दो बार प्रदेश अध्यक्ष के पद पर रहता है तो वो इस पद अब नहीं रह सकता, इसके उपरांत से कई नामों की चर्चा चल रही थी। बीजेपी ने पश्चिम बंगाल के बालूरघाट के सांसद डॉ सुकांत मजूमदार को बंगाल बीजेपी का नया अध्यक्ष बनाया है।

Surgical Strike की वर्षगांठ से पहले LoC पर हलचल तेज़, सेना अलर्ट.. Uri में इंटरनेट बंद

महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य ने बताया सोमवार का पूरा घटनाक्रम, किए कई खुलासे

कोरोना को लेकर बड़ी खबर: भारत में 24 घंटों में सामने आए अब तक के सबसे कम मामले

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -