TATA में मिली झारखंड की बेटियों को नौकरी, अर्जुन मुंडा बोले- 'इनके कारण राज्य में आएँगे 30 करोड़'

रांची: झारखंड की 822 लड़कियों को टाटा की कंपनी में नौकरी मिली है। ये बेटियां झारखंड के पिछड़े क्षेत्रों में शुमार खूंटी, तमाड़, सिमडेगा एवं सरायकेला-खरसावां से हैं। ये सभी इंटर पास हैं। मंगलवार (27 सितंबर 2022) को जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने हटिया स्टेशन से हुसूर के लिए विशेष ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

वही इस मौके पर झारखंड के पूर्व सीएम और जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने हुसूर जा रही बेटियों की हौसलाआफजाई की। उन्होंने कहा कि बेटियां बढ़ेंगी, तभी देश आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि वह स्वयं उनके माता-पिता के तौर पर तमिलनाडु आयेंगे तथा वक़्त-वक़्त पर उनसे मिलते रहेंगे। डरने की कोई बात नहीं है। हिम्मत के साथ आपलोग जायें तथा अपनी ट्रेनिंग पूरी करें।

अर्जुन मुंडा ने कहा कि टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स में चुनी गयीं झारखंड की बेटियों के कारण राज्य में प्रत्येक वर्ष 30 करोड़ रुपये आयेंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में और बच्चियों को इसी प्रकार से प्रशिक्षण और नौकरी मिले, इसकी व्यवस्था उनका मंत्रालय करेगा। उन्होंने कहा कि जब वह झारखंड के सीएम थे, तब झारखंड की बेटियों के लिए दो अहम योजनाओं का आरम्भ किया था। उन्होंने कहा कि आप ट्रेनिंग लें, बाद में अपनी जैसी अन्य लड़कियों को भी ट्रेनिंग दें। इसको लेकर सीपी सिंह ने कहा- झारखंड के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। विशेष तौर पर रांची प्रमंडल के लिए यह दिन ऐतिहासिक है। मुझे लगता है कि यह भारत के लिए भी पहला अवसर है। अर्जुन मुंडा जब झारखंड के सीएम थे, तब उन्होंने कई ऐसे काम किये, जिसका फायदा हमारे झारखंड के लोगों को प्राप्त हुआ है। इतनी बच्चियों को एक साथ ट्रेनिंग के लिए टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स में भेज रहे हैं, यह किसी की भी कल्पना से परे है।

चुनरी यात्रा के दौरान मंच से गिरे विधायक

एल्युमिनियम का लाखों का सामान चुरा ले गए चोर

पार हुई क्रूरता की हदें! 3 महिलाओं को जबरन पिलाया मल-मूत्र, हैरान कर देने वाली है वजह

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -