झारखण्ड के गांव में मिट्टी के घरों में रहने के लिए मजबूर लोग, नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

Aug 05 2019 11:06 AM
झारखण्ड के गांव में मिट्टी के घरों में रहने के लिए मजबूर लोग, नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

लातेहार: एक ओर सरकार गांव- गांव प्रधानमत्री आवास योजना के अंतर्गत गरीबों को घर देने के दावे करते नहीं थक रही है. वहीं, दूसरी ओर अधिकारियों की लपरवाही की वजह से आज लोग आवास योजना से वंचित हैं और अपना जीवन बचाने को लेकर मजबूरन मिट्टी से बने घरों में रह रहे हैं. ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास को लेकर प्रखंड से लेकर जिला तक के चक्कर काटते काटते थक गए, किन्तु अधिकारियों के कानों में जू तक नहीं रेंगी.

झारखंड के लातेहार सदर प्रखंड के अंतर्गत आने वाला हेसलबार गांव मुख्य रूप आदिवासी बहुल्य इलाका है. यहां के ग्रामीणों का मुख्य पेशा खेती किसानी ही है. साथ ही इस गांव 100 घर मौजूद हैं. किन्तु अब तक इस गांव में किसी अधिकारी और जनप्रतिनिधियों का कदम नहीं पड़ा है. इस गांव लोगों को आज तक किसी को प्रधानमंत्री आवास योजना का फायदा नहीं मिल पाया है. 

इस बात को लेकर ग्रामीणों ने प्रखंड कार्यालय में कई बार इसकी शिकायत की लेकिन अधिकारीयों ने सिर्फ आश्वासन के सिवा कुछ भी नहीं दिया. वहीं, ग्रामीण कहते हैं कि हम लोगों ने इसकी शिकायत मुखिया और अधिकारियों से भी की, किन्तु केवल यही कहा गया की आप लोगों को जल्द ही प्रधानमंत्री आवास योजना का फायदा मिल जाएगा, पर हुआ कुछ नहीं.  

मोदी सरकार दे रही सस्ता सोना खरीदने का मौका, आज से ही शुरू हुई योजना

आरबीआई ने जारी किया संसद सदस्य और विधायक से संबंधित ये सर्कुलर

आर्थिक सुस्ती से लड़ने के लिए सस्ते क़र्ज़ को हथियार बनाएगी केंद्र सरकार