हिन्दू लड़कियों का 'बलात्कार' करना जायज़! ISIS के डॉक्यूमेंट से विस्फोटक खुलासा, जबलपुर में NIA ने पकड़ा टेरर मॉड्यूल

हिन्दू लड़कियों का 'बलात्कार' करना जायज़! ISIS के डॉक्यूमेंट से विस्फोटक खुलासा, जबलपुर में NIA ने पकड़ा टेरर मॉड्यूल
Share:

जबलपुर: मध्यप्रदेश में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) मॉड्यूल पर एक हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. इसका भड़ाफोड़ करते हुए NIA ने जो दस्तावेज जब्त किए हैं, उनसे यह विस्फोटक खुलासा हुआ है. इन दस्तावेज़ों के अनुसार, गिरफ्तार किया गया आतंकी आदिल एक यूट्यूब चैनल चलाता था. इसी के ही साथ दावा और हिन्दुओं से जुड़े भी अहम सुराग हाथ लगे हैं. आदिल और उसके साथी मिलकर दावा प्रोग्राम और यूट्यूब चैनल ऑपरेट कर रहे थे. इसी दावा प्रोग्राम और अपने चैनल के माध्यम से ही आतंकी आदिल, दूसरे लोगों का ब्रेनवाश कर उन्हे ISIS से जुड़ने के लिए भड़कता था.

ISIS के डॉक्यूमेंट के अनुसार, 2050 तक भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने का लक्ष्य रखा गया था. इसी के ही साथ दावा प्रोग्राम के डॉक्यूमेंट में हिंदू देवी-देवताओं और हिंदू स्त्रियों के संबंध में गलत और अश्लील बातें भी लिखी हुईं हैं. दावा प्रोग्राम में बताया गया है कि, किस तरह इस्लाम, हिंदू और अन्य सभी धर्मो से अच्छा है. इसी के ही साथ हिंदू देवी-देवताओं को लेकर बहुत गलत कंटेंट भी पेश किया गया है. कई धार्मिक श्लोकों के भी गलत अर्थ निकालकर दावा प्रोग्राम में दिखाए गए हैं.

यही नहीं, इस डॉक्यूमेंट में हिंदू लड़कियों के बलात्कार को बिल्कुल जायज बताया गया है. साथ ही घूंघट की तुलना हिजाब से की गई है. इसी के ही साथ डॉक्यूमेंट में धर्मांतरण के लिए भड़काने वाला कंटेंट भी है. बता दें कि, NIA ने 26-27 मई को जबलपुर में 13 ठिकानों पर छापा मार करवाई करते हुए ISIS मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. NIA ने कुछ लोगों को पूछताछ के बाद रिहा कर दिया था, मगर ISIS से जुड़े तीन कट्टर युवकों को अरेस्ट कर लिया था. अरेस्ट किए आरोपियों के पास से ही ये विवादित और भड़काऊ दस्तावेज NIA को मिला है.

हिंदुस्तान के सभी राज्यों में फैला आतंकवाद, एक ही लक्ष्य- इस्लामी राष्ट्र

बता दें कि, गत वर्ष 2022 में बिहार पुलिस और NIA ने कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) का भंडाफोड़ किया था, जो 2047 तक भारत को इस्लामी राष्ट्र बनाने पर काम कर रहा है और केरल से कश्मीर तक फैल चुका है। इस साजिश को सफल करने के लिए PFI ने पूरा प्लान भी बना लिया था कि, कैसे मुस्लिमों को हथियार की ट्रेनिंग देनी है, कैसे SC/ST और OBC को भड़काकर उन्हें बाकी हिन्दुओं के खिलाफ करना है, सिस्टम में अपने लोग बिठाने हैं और फिर आतंकी संगठित होते ही सत्ता पर कब्ज़ा कर भारत को इस्लामी झंडे के नीचे लाना है। इसी तरह का खुलासा मध्य प्रदेश और तेलंगाना से पकड़े गए आतंकी संगठन हिज़्ब उत तहरीर (HuT) के 16 संदिग्धों से हुई पूछताछ में भी हुआ है, जो मध्य प्रदेश के जंगलों में हथियारों की ट्रेनिंग ले रहे थे। ये सभी लोग आम इंसानों की तरह जनता के बीच रह रहे थे, कोई इंजिनियर था, कोई प्रोफेसर।  

सबसे बड़ी हैरानी की बात तो ये थी कि, HuT के 16 आतंकियों में से आधे पहले हिन्दू ही थे, जिन्हे ब्रैनवॉश करके और भगोड़े इस्लामी उपदेशक ज़ाकिर नाइक की तकरीरें सुनाकर पहले मुस्लिम बनाया गया, और फिर आतंकी, इन कट्टरपंथियों को अन्य लोगों को भी धर्मान्तरित करने का टास्क दिया गया था। इन घटनाक्रमों को देखकर आप समझ सकते हैं कि, आतंकवाद हमारे कितने करीब आ चुका है और भारत पर कितना बड़ा ख़तरा मंडरा रहा है। जिसके बाद गुजरात से अल क़ायदा का बड़ा टेरर मॉड्यूल पकड़ा गया था, जिसमे 4 बांग्लादेशी आतंकी गिरफ्तार किए गए थे और अब मध्य प्रदेश जबलपुर में इस्लामिक स्टेट (ISIS) की साजिशों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इस को देखकर यह कहा जा सकता है कि, आतंकवाद भारत के हर राज्य में पैर पसार चुका है, लेकिन, एजेंसियों की सख्ती के कारण वो अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं।

कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर को 'नाकाबिल' कहने पर दलित एक्टिविस्ट गिरफ्तार, इससे पहले शिक्षक पर गिरी थी गाज

अखिलेश सरकार और मुख़्तार! माफिया को 2 साल में कैसे जारी हो गए 28 हथियार ? STF के हाथ लगे सबूत

'..तो 8-10 सालों के लिए जेल जाएंगे केजरीवाल..', कांग्रेस नेताओं ने बताया AAP क्यों कर रही अध्यादेश का विरोध ?

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -