बंगाल के विश्विद्यालयों में रैगिंग रोकने के लिए अपनी हाई टेक्नोलॉजी देगा ISRO, गवर्नर बोस ने मांगी थी सलाह

बंगाल के विश्विद्यालयों में रैगिंग रोकने के लिए अपनी हाई टेक्नोलॉजी देगा ISRO, गवर्नर बोस ने मांगी थी सलाह
Share:

कोलकाता: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने पश्चिम बंगाल के विश्वविद्यालय परिसरों में रैगिंग रोकने के लिए एक उन्नत तकनीक देने की पेशकश की है। दरअसल, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल और विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति सी वी आनंद बोस ने परिसरों में रैगिंग को असरदार तरीके से रोकने और खत्म करने के लिए उचित तकनीक की पहचान करने के लिए इसरो के अध्यक्ष सोमनाथ से संपर्क किया था।

गवर्नर बोस ने इस मामले पर हैदराबाद के एडवांस्ड डेटा प्रोसेसिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (ADRIN) से भी चर्चा की। प्रौद्योगिकी कई संसाधनों का इस्तेमाल करेगी, जैसे वीडियो एनालिटिक्स, छवि मिलान, स्वचालित लक्ष्य पहचान और रिमोट सेंसिंग। बता दें कि, यह घटनाक्रम जादवपुर विश्वविद्यालय के प्रथम वर्ष के एक छात्र की विश्वविद्यालय के छात्रावास में कथित तौर पर बालकनी से गिरने के बाद मौत के कुछ दिनों बाद आया है।

छात्र की मौत के मामले में कुल 12 लोगों को अरेस्ट किया गया था। गिरफ्तार किए गए लोगों में विश्वविद्यालय के वर्तमान और पूर्व छात्र भी शामिल हैं, जिन्होंने छात्र की मौत में सक्रिय भूमिका निभाई थी। एक रिपोर्ट के अनुसार, बताया गया था कि, पीड़ित छात्र की बुरी तरह रैगिंग की गई थी, और इसी के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इस मामले को लेकर राज्य की ममता सरकार पर भी काफी सवाल उठे थे। 

'2000 साल पुराने रिश्तों में जुड़ रहा नया अध्याय..', ग्रीस पहुंचे PM मोदी, 40 साल में किसी भारतीय पीएम की पहली यात्रा

'भारत-चीन संबंधों में सुधार साझा हितों के लिए महत्वपूर्ण..', पीएम मोदी से बोले राष्ट्रपति जिनपिंग

समूहिक बलात्कार मामले में सुप्रीम कोर्ट ने रद्द की कांग्रेस विधायक जौहरी लाल मीणा के बेटे की जमानत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -