IS-K आतंकी असलम फारूकी ढेर, गुरूद्वारे हमले में था शामिल, हुई थी 27 भक्तों की मौत

काबुल: इस्लामिक स्टेट ऑफ खुरासान (IS-K) का पूर्व सरगना असलम फारूकी (Aslam Farooqi) अफगानिस्तान में मारा गया है. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि फारूकी को युद्धग्रस्त मुल्क के उत्तर में मार गिराया गया है. बता दें कि मार्च 2020 में काबुल में स्थित गुरुद्वारा पर हुए आतंकी हमले में फारूकी शामिल था. इस हमले में 27 भक्तों की दर्दनाक मौत हो गई थी.

फारूकी की मौत की रिपोर्ट की पुष्टि स्थानीय लोगों और IS-K आतंकी के करीबी सम्बन्धियों ने उसके पैतृक क्षेत्र ओरकजई में की है. ये क्षेत्र अफगानिस्तान के साथ बॉर्डर पर अस्थिर पाकिस्तानी कबायली जिलों में से एक है. बताया गया है कि उत्तर अफगानिस्तान में हुई फायरिंग में इस्लामिक स्टेट का आतंकी ढेर कर दिया गया है. आतंकी की लाश को मंगलवार को उसके घर ले जाया जाएगा.

बता दें कि आतंकी फारूकी ने जुलाई 2019 में IS-K चीफ के रूप में अबू उमर खोरासानी (Abu Omar Khorasani) के नाम से जाने जाने वाले समूह के पूर्व चीफ की जगह ली थी. इस दौरान अफगानिस्तान में इस आतंकी संगठन को कड़ी कार्रवाइयों का सामना करना पड़ा था. अमेरिका और तत्कालीन अफगान सरकार और पूर्वी अफगानिस्तान नांगरहार प्रांत में आतंकी संगठन तालिबान ने इस्लामिक स्टेट के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था.

उच्च न्यायालय इस्लामाबाद ने इमरान खान कैबिनेट से पूर्व नौसेना प्रमुख के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा

यूक्रेन, जर्मनी, फ्रांस के विदेश मंत्री यूक्रेन के मामले में मुलाकात करेंगे

टेलीप्रॉम्पटर में खराबी आते ही बोलते-बोलते रुक गए मोदी, Video में देखें पूरी सच्चाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -