जानिए नोटबंदी के कुछ फायदों के बारे में...

नई दिल्ली : केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2016 में करोड़ों भारतीयों के हित में एक बड़ा फैसला लिया था. सरकार ने 8 नवंबर 2016 को अपने नोटबंदी के फैसले से हर किसी को आश्चर्यचकित कर दिया था. सरकार ने इस दिन भारतीय मुद्रा के 500 और 1000 के नोटों को बंद किया था. सरकार ने इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा था कि ऐसा उन्होंने काले धन को वापस देश में लाने के लिए किया था. कई हद तक सरकार अपने इस प्रयास में सफल भी रही थी. वहीं, कहीं-कहीं सरकार को अपने इस फैसले पर आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा था. आइए आज इस अवसर हम नोटबंदी के कुछ फायदों के बारे में जानते हैं. 

- नोटबंदी से हमें सबसे बड़ी फायदा यह मिला है कि इससे जाली या पुराने नोटों का सफाया हो गया हैं. 

- हमारे देश में लोगों का जितना भी काला धन रखा हुआ था, वह पल भर में ही बर्बाद हो गया. इससे भ्रष्टाचार में भी कमी देखने को मिली हैं. 

- नोटबंदी के बाद से देश में कैशलेस चलन में काफी वृद्धि हुई थी. जो कि आज भी जारी हैं.  

- महंगाई की मार को नोटबंदी ने काफी हद तक कम किया हैं. इकोनॉमिस्‍ट डी.के. जोशी के मुताबिक, अवैध पैसे को खपाने के लिए फिजूलखर्ची बड़े स्‍तर पर की जाती है. इसकी वजह से सामान की कीमतें बढ़ती हैं. नोटबंदी के चलते कुछ हद तक यह पैसा सिस्‍टम में वापस आया है. अतः इससे महंगाई में भी कमी हुई हैं. 

- नोटबंदी के फैसले ने भ्रष्टाचारियों की जुबान पर भी ताला लगा दिया हैं. भ्रष्टाचार में 500 और 1000 रु के नोट अहम भूमिका निभाते थे. जहां सरकार ने 500 का नया नोट जारी कर दिया था. और 1000 के नोट को पूरी तरह बंद कर उसके स्थान पर 2000 रु का नोट जारी किया था. 

- नोटबंदी के बाद से कैशलेस लेनदेन बढ़ा हैं. जिसका सीधा फायदा बैंकों को मिला हैं. कैशलेस व्यव्हार से बैंकों की कमाई में इजाफा हुआ हैं. 

नोटबंदी सौ फीसदी सफल रही - मंत्री पीयूष गोयल

पाकिस्तान, भारत के पुराने बंद नोटों से बना रहा नकली नोट

नोटबंदी का फायदा अब दिख रहा है - वित्त राज्यमंत्री

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -