हादसे के बाद, झांसी के DRM का तबादला, रांची भेजे गए

कानपुर : कानपुर के झांसी रेलखंड के समीप हुई इंदौर-पटना रेल दुर्घटना के मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। इस मामले में यह बात सामने आई है कि करीब 5 वरिष्ठ अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। दूसरी ओर झांसी के डिविजनल मैनेजर को स्थानांतरित कर दिया गया है। अब इतना ही नहीं झांसी रेलमंडल के डीआरएम एसके अग्रवाल का स्थानांतरण कर दिया गया है। अब वे रांची में अपनी जिम्मेदारी संभालेंगे। इतना ही नहीं रेलखंड के पांच अधिकारियों को जांच जारी रहने तक के लिए निलंबित कर दिया गया है। ट्रेन दुर्घटना में मरने वालों की तादाद 150 हो गई है।

दरअसल यह बीते 17 वर्षों में होने वाली एक बड़ी दुर्घटना मानी गई है। दुर्घटना के बाद जो जांच की गई है उसके तहत ट्रेन इंजन ड्रायवर्स के ब्लड सेंपल लिए गए हैं। ये ब्लड सेंपल लैब में भेजे गए हैं। जिन अधिकारियों को निलंबित किया गया है उनमें मेकेनिकल इंजीनियर नवेद तालिब, संभागीय इंजीनियर एमके मिश्रा, वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर अंबिका ओझा, सेक्शन इंजीनियर ईश्वर दास और वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर सुशील कुमार गुप्ता को लापरवाही के मामले में निलंबित किया गया।

अब इस मामले में जांच कार्रवाई आगे बढ़ाई जा रही है। इस मामले में वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जो जवाबदारी तय की गई है उसके तहत कार्रवाई करना बेहद आवश्यक था। गौरतलब है कि इस मामले में रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा जांच की जा रही है। रेल संरक्षा आयुक्त ट्रेनों के सुरक्षित परिचालन की व्यवस्था को देखते हैं और उसके सुरक्षित परिचालन को माॅनिटर करते हैं।

इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना में मृत बताई लड़की ज़िंदा निकली

रेलमंत्री ने कहा : ट्रैन हादसे की फोरेंसिक...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -