मजदूरों की परेशानी देख मुफ्त में बसें उपलब्ध करवाएंगे बस ऑपरेटर

लॉकडाउन की वजह से मजदूरों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं, अब पलायन का दर्द झेल रहे मजदूरों की मदद के लिए आगे आते हुए बस संचालकों ने प्रशासन को मुफ्त में बस मुहैया कराने का प्रस्ताव दिया है. ऑल इंडिया टूरिस्ट परमिट आनर्स एसोसिएशन के सचिव अरुण गुप्ता ने बताया कि हमने अधिकारियों से कहा है कि इस समय मजदूर वर्ग सबसे अधिक परेशान है. लोग सैकड़ों किलोमीटर तक पैदल यात्रा कर परेशान हो रहे हैं. पिछले दिनों एक सीमेंट मिक्सर में भी लोग यात्रा करने के लिए मजबूर हो गए थे. इतनी गर्मी में लोग बच्चों के साथ पैदल चल रहे हैं.

इस वजह से हमने प्रशासन से कहा है कि हम अपनी बसों को मुफ्त में उन्हें उपलब्ध करवा देंगे. आप इसके डीजल और ड्राइवर-कंडक्टर के वेतन का इंतजाम कर दें. ऐसे में इन मजदूरों को इस तरह से पैदल चलकर परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी. हम मजदूरों को उनके शहर तक छोड़ देंगे. बीते दिनों हमने दो बसें उपलब्ध भी करवाई थीं.

आपको बता दें की प्राइम रूट बस आनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि प्रशासन ऐसा कर सकता है. पहले भी शहर में चुनावी सभा, प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री के सरकारी कार्यक्रम के लिए हमारी बसें अधिग्रहित की जाती रही हैं. इसके लिए जब शासन स्तर पर पैसा मिलता है तो इस बार तो देश के मजदूरों के लिए ऐसा किया जा सकता है. बसें अधिग्रहित कर शासन उसमें डीजल डलवा देता है. हमारा पैसा काफी वक्त बाद मिलता है. इस बार तो संचालक ऐसी व्यवस्था बिना किसी लाभ के करना चाहते हैं.  

रेल यात्रा के दौरान नहीं हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, यात्रियों ने बोली ये बात

स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृह नगर पहुंचा कोरोना, पहले मरीज की हुई मौत

मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 4046 पहुंची, अब तक इतने लोगों ने गवाई जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -