इलाज के दौरान दो संदिग्ध मरीजों की हुई मौत

Mar 26 2020 01:57 PM
इलाज के दौरान दो संदिग्ध मरीजों की हुई मौत

अब प्रदेश में भी कोरोना संदिग्ध मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. गुरुवार को दो कोरोना संदिग्ध मरीजों की मौत का मामला सामने आया. एक की माैत इंदौर के एमआर टीबी अस्पताल में गुरुवार अलसुबह हुई. जबकि दूसरे ने उज्जैन से इंदौर लाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया. दोनों को ही सर्दी, खांसी और सांस लेने में तकलीफ के बाद उज्जैन से इंदाैर रैफर किया गया था. जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उनके कोराेना पॉजिटिव होने या नहीं होने का पता चल पाएगा।

बता दें की एमजीएम मेडिकल कॉलेज से जारी काेरोना बुलेटिन के दौरान गुरुवार सुबह बताया गया कि उज्जैन के ऋषि नगर में रहने वाले 47 साल के व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई . मरीज को उज्जैन के सिविल अस्पताल से इंदौर के लिए रैफर किया गया था. इसके बाद वह एमआर टीबी अस्पताल में 25 मार्च को भर्ती हुआ था. मरीज को सांस लेने में परेशानी थी. इसके अलावा वह सर्दी, खांसी और बुखार से पीड़ित था. मरीज को अन्य कोई बीमारी नहीं थी. मरीज का कोई ट्रेवल और कांटेक्ट हिस्ट्री होना नहीं बताया गया था. मृतक के कोरोना के लिए सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट अभी नहीं आई है. उसका एंटीबायोटिक्स और अन्य दवाई से उपचार किया गया और स्थिति गंभीर होने पर उसे वेन्टीलेट्री चिकित्सकीय उपचार भी प्रदान किया गया था।

वहीं, महिदपुर वाला बाखल निवासी व्यक्ति ने भी गुरुवार को आखिरी सांस ली. मृतक को परिजनों ने सांस लेने में तकलीफ के बाद उज्जैन के माधव नगर अस्पताल में भर्ती करवाया था. गुरुवार को हालत में सुधार नहीं होने पर उसे इंदौर रैफर कर दिय गया, जहां रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. उसके सैंपल जांच के लिए इंदौर भेजे गए हैं. हालांकि परिजनों का कहना है कि उन्हें टाइफाइड था. जानकारी के लिए बता दें कि इसके पहले उज्जैन की रहने वाली कोरोना पाॅजिटिव महिला ने बुधवार को दम तोड़ दिया था. मृतका के बेटे-बहू सहित पांच लोग पॉजिटिव पाए गए हैं.

कोरोना वायरस : जन सेना ने प्रधानमंत्री राहत कोष में दान की भारी भरकम रकम

इस सिंगर ने अस्पताल को डोनेट किए 175 हजार डॉलर

मध्य प्रदेश में बढ़ा 'कोरोना' का प्रकोप, सीएम शिवराज ने किया रहत पैकेज का ऐलान