कोरोना वायरस : जन सेना ने प्रधानमंत्री राहत कोष में दान की भारी भरकम रकम

Mar 26 2020 12:19 PM
कोरोना वायरस : जन सेना ने प्रधानमंत्री राहत कोष में दान की भारी भरकम रकम

भारत में आज के दिन कोरोनावायरस के संक्रमित मरीज और बढ़ गए है. बता दे कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना मुख्‍यमंत्री के राहत कोष में 50-50 लाख रुपये के साथ प्रधानमंत्री राहत कोष में भी जन सेना की ओर से 1 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया गया है.टॉलिवुड अभिनेता व जन सेना प्रमुख पवन कल्‍याण ने गुरुवार को प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष  में 1 करोड़ रुपये का योगदान करने की घोषणा की.यह योगदान कोरोना वायरस महामारी के कारण उपजे संकट को देखते हुए किया जा रहा है.

'तीसरी स्टेज' में पहुंचा कोरोना, चपेट में आया देश का ये शहर

इस मामले को लेकर जनसेना प्रमुख ने अपने ट्विटर हैंडल से इस बात का ऐलान किया है कि कोरोना संकट के कारण वे दोनों तेलुगू राज्‍यों आंध्र प्रदेश व तेलंगाना को 50-50 लाख रुपये का योगदान देंगे.  बता दें कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कोरोना वायरस से अब तक एक भी मौत नहीं हुई हैैै.हालांकि आंध्र प्रदेश में 11 संक्रमित मामले आए जिसमें से एक के स्‍वस्‍थ होने की खबर है.वहीं तेलंगाना में अब तक 41 संक्रमित मामलों की पुष्‍टि हुई है.

कोरोना: इटली में पढ़ रहा इंदौर का छात्र नहीं लौट सका स्वदेश, दिया मार्मिक सन्देश

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस वायरस के कारण उत्‍पन्‍न हालात को कंट्रोल करने के लिए 14 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान किया है.इसके कारण सबसे अधिक गरीब तबका प्रभावित हो रहा है जिनकी जिंदगी दिहाड़ी से चलती थी.इसके लिए सरकार समेत कई लोग धनराशि व अन्‍य स्राेतों से मदद कर रहे हैं.इसी क्रम में टॉलीवुड अभिनेता पवन कल्‍याण भी आगे आए.दुनिया के 197 देशों में फैला यह संक्रमण चीन के वुहान शहर से पिछले साल दिसंबर माह में शुरू हुआ था.हालांकि चीन में अब जिंदगी बहाल हो रही है.लेकिन इटली बुरी तरह तबाह हो चुका है और इसके बाद अमेरिका का नंबर है.भारत में भी अब तक कोरोना वायरस के 600 से अधिक मामले आ चुके हैं वहीं अब तक हुई मौतों की संख्‍या दस पहुंच चुकी है.

लॉकडाउन के बीच भाजपा का बड़ा ऐलान, रोज़ाना 5 करोड़ गरीबों को भोजन कराएगी पार्टी

कोरोना के कहर के बीच किसानों की मुश्किलें बढ़ीं, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

कोरोना वायरस : दिहाड़ी मजदूर की दुर्दशा पर सुप्रीम कोर्ट ने बोली ये बात