अब आतंकियों की खैर नहीं, भारतीय सैनिक AK 203 से बरसाएंगे गोलियां

Apr 08 2019 06:40 PM
अब आतंकियों की खैर नहीं, भारतीय सैनिक AK 203 से बरसाएंगे गोलियां

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में आतंकियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान में डेट सेना के वीर जवानों को अब एके-203 राइफल के मॉर्डन वर्जन से लैस किया जाएगा. इन एके 203 राइफलों को उत्तर प्रदेश के अमेठी में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड और रूस के साथ संयुक्त प्रयास के तहत निर्मित किया जाएगा. फास्ट ट्रैक प्रोसेस के तहत इन 93000 कारबाइन के लिए पृथक से निविदा जारी की जाएगी. 

साक्षी महाराज का विवादित बयान , कहा - जो हिन्दू हित की बात करेगा वही देश पर राज करेगा

समाचार एजेंसी एनएनआई ने सेना के उच्च सूत्रों के हवाले से जानकारी प्रदान की है कि, 'हम अपनी सेना के जवानों को अब एके 203 राइफलों से लैस करने जा रहे है. अब हम आतंकवाद के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन्स के दौरान इस राइफल की बट को आसानी से हटा सकते हैं और इसे कपड़ों के बीच में छिपा सकते हैं. सेना में इस राइफल के उपयोग के लिए इसमें कई और परिवर्तन किए जाएंगे.'

प्रधानमंत्री को लेकर बोले पवार, कहा - वैसे तो पीएम मोदी ठीक हैं लेकिन....

आपको बता दें कि सेना और सुरक्षाबलों के आधिकारिक सूत्रों ने जानकारी दी थी कि ‘एके-203 राइफल’ उस इंसास राइफल का स्थान लेगी, जिसका उपयोग थल सेना और अन्य बल कर रहे हैं. इस इकाई में 7,00,000 एके-203 राइफलें तैयार करने का आरंभिक लक्ष्य है. एके-203 राइफल एके-47 राइफलों का सर्वाधिक मॉडर्न वर्जन है.  नई असॉल्ट राइफल भी एके-47 की तरह ऑटोमैटिक और सेमी ऑटोमैटिक दोनों तकनीकों से लैस होगी.

खबरें और भी:-

चीन में होने वाली बेल्ट एंड रोड फोरम की बैठक में हिस्सा नहीं लेगा भारत

राजधानी में आज 13 हजार से ज्यादा बूथों पर आयुष्मान मार्च निकालने जा रही है बीजेपी

आज लगातार तीन रैलियां कर जम्मू के कार्यकर्ताओं में जोश भरेंगे राजनाथ सिंह