इंदौर: वैक्सीन की दोनों डोज लगवाए बिना इस दिन से नहीं मिलेगा दूध, राशन और मंदिर में प्रवेश

इंदौर: कोरोना वैक्सीनेशन के लिए इंदौर ने मंगलवार को एक बड़ा फैसला लिया है। ऐसा कहा जा रहा है कि आने वाले 23 नवंबर तक पूरी लक्षित आबादी का सेकंड डोज ड्यू हो जाएगा, क्योंकि 31 अगस्त तक सभी पहला डोज लगा चुके हैं। आप सभी को बता दें कि प्रशासन के साथ विभिन्न धार्मिक, व्यापारिक, सामाजिक संगठनों ने भी यह घोषणा की है कि यदि 30 नवंबर के बाद कोई दोनों डोज का सर्टिफिकेट नहीं दिखाएगा तो उसे न दूध मिलेगा, न दुकानों से किराना आदि सामान देंगे। जी हाँ, वहीं कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है विदेशों में केस बढ़ रहे हैं, ऐसे में अपने यहां भी पूरी सावधानी रखना जरूरी है।

आप सभी को यह भी बता दें कि कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए पूरे जिले में 10 से लेकर 20 नवंबर तक सतत दस दिन तक अभियान चलेगा। इस दौरान सभी को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। बीते दिन ही इसके लिए कलेक्टर मनीष सिंह की अध्यक्षता में रविंद्र नाट्य गृह में सभी व्यापारिक, औद्योगिक, सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक में अलग-अलग संगठनों ने घोषणा करते हुए कहा कि 'वह लगातार रोको-टोको अभियान करेंगे और 30 नवंबर के बाद सर्टिफिकेट नहीं होने पर किसी तरह की सेवा, माल नहीं देंगे।' इस दौरान कलेक्टर सिंह ने यह भी कहा कि, 'विदेशों में फिर से मरीज बढ़ने लगे हैं, रूस में मौतें अधिक हो रही है, हमें तैयार रहना है क्योंकि देखने में आया है कि दो से तीन माह बाद इसका असर देश और इंदौर पर भी आता है। वैक्सीनेशन होने पर लहर से बचाव होगा और लॉकडाउन की नौबत नहीं आने से कारोबार भी चलता रहेगा।'

आप सभी को बता दें कि इस बीच अग्रवाल समाज ने वैक्सीनेशन के लिए बड़ी पहल की है। जी दरअसल समाज के अरविंद बागड़ी ने बताया कि समाज की हर शादी के कार्ड पर यह लिखा जा रहा है कि वैक्सीन जरूर लगवाएं और इसके बाद ही शादी-समारोह में शिरकत करें। प्रशासन ने इस पहल की सराहना की।

इंदौर: 13 साल छोटे प्रेमी के साथ भागी महिला लौटी घर, बोली- 'पैसे खत्म हो गए तो आ गई'

MP: बड़ी खबर! बिजली का बकाया बिल भरने पर मिलेगी 40 फीसदी की छूट

इंदौर की ताई को मिला पद्म भूषण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -