लांबा पर टिप्पणी के खिलाफ ओ पी शर्मा पर गिर सकती है गाज

नई दिल्ली : दिल्ली में बीजेपी विधायक ओ पी शर्मा द्वारा आम आदमी पार्टी की विधायक अल्का लांबा पर टीका-टिप्पणी करने के आरोप में विधानसभा की कुर्सी तक गंवानी पड़ सकती है। विधानसभा की आचरण समिति ने उनकी सदस्यता रद्द किए जाने की सिफारिश की है।

10 सदस्यों वाली समिति ने जांच में शर्मा को दोषी पाया है। समिति ने सदन की अध्यक्षा से सिफारिश की है, कि उनकी सदस्यता रद्द कर दी जाए। इससे पहले कमेटी ने शर्मा को अपना पक्ष रखने के लिए कई बार मौके दिए, लेकिन वो खुद को सही साबित नहीं कर पाए। जांच समिति ने पाया कि शर्मा सदन में असंसदीय भाषा के रेगुलर उपयोकर्ता है।

वो ऐसा विशेषकर महिला विधायकों के साथ ही करते है। लांबा ने शर्मा के खिलाफ पिछले विधान सभा में विरोध भी जताया था, तो उधर शर्मा भी मनीष सिसोदिया के खिलाफ कार्रवाई की तख्ती लेकर विधान परिषद् में धरने पर बैठ गए। इसके बाद उन्हें सदन से पूरे सत्र के लिए बर्खास्त कर दिया गया था। यदि कार्रवाई हुई तो शर्मा अपनी सदस्यता खो सकते है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -