शराबी आईजी का सरकार ने किया बुरा हाल

हरियाणा गवर्नमेंट ने पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) होमगार्ड हेमंत कल्सन को तुरंत प्रभाव से निष्कासित कर दिया है.गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को निष्कासन के निर्देश जारी किए गए.बीते हफ्ते पंचकूला जिले के पिंजौर में एक निवास में घुसकर दो महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने पर उनके विरूध्द यह कार्यवाही की गई है. 

क्या 'आप सरकार' के खिलाफ आंदोलन करेंगे अन्ना हज़ारे ? भाजपा नेता ने की ये अपील

महिलाओं की शिकायत पर पुलिस ने कल्सन को हिरासत में लेकर अदालत में उपस्थिति किया ​था.जहां से उन्हें अंबाला कारागार भेजा गया. मार्ग में तबीयत खराब होने पर उन्हें फिर पड़ताल के लिए पंचकूला लाया गया.रिपोर्ट सही आने पर उन्हें जेल भेजा था.कल्सन लंबे वक्त से विवादों में चल रहे हैं.27 जुलाई को भी कल्सन एक महिला से बदसलूकी के आरोपों में फसती नजर आ रही है. 

गुरदासपुर में कोरोना से हुई डॉक्टर की मौत

महिला ने आरोप लगाया था कि कल्सन ने महिला को उसके निवास से बाहर निकालकर अपशब्द का प्रयोग किया था. महिला ने पिंजौर कोतवाली में शिकायत दी थी. कल्सन पर मंदिरा पीकर बुरा व्यवहार करने का आरोप है.जुलाई में कल्सन ने एक महिला के खिलाफ जातिसूचक शब्द कहने की बात कही थी.शिकायतकर्ता हेमंत कल्सन ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि महिला ने पहले उन्हें जातिसूचक शब्द कहा.इस कारण महिला से झगड़ा हुआ था.महिला और हेमंत कल्सन की ओर से दी गई शिकायत पर एक-दूसरे के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.लोकसभा चुनाव में अप्रैल 2019 में हेमंत कल्सन को तमिलनाडु में चुनावी ड्यूटी के दौरान हवा में फायरिंग के लिए निष्कासित कर दिया गया था.आरोप है कि आईजी हेमंत कल्सन ने कांस्टेबल की सेमी ऑटोमेटिक बंदूक से हवा में गोलिया दागी थी.कल्सन पर सिंतबर 2018 में एक रोडरेज की घटना के समय राहगीरों से विवाद करने का आरोप है.

पत्रकार हत्याकांड में सीएम योगी ने परिजनों के लिए किया बड़ा ऐलान

दिल्ली में रईसजादों का उत्पात, पहले ठोंकी कार, फिर पुलिसवालों से की तकरार

पटियाला में कोरोना से हुई पत्रकार की मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -