वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के इस राहत पैकेज में 80 करोड़ गरीबों को मिली सहायता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के इस राहत पैकेज में 80 करोड़ गरीबों को मिली सहायता

गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस के प्रकोप को कम करने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के बीच गरीबों की मदद के लिए कई बड़े ऐलान किये हैं. वित्त मंत्री ने देश भर के 80 करोड़ गरीबों को तीन महीने तक हर महीने 5 किलो गेहूं या चावल और एक किलो दाल मुफ्त देने का ऐलान किया है. गरीबों को यह राशन पहले से दिये जा रहे राशन से अतिरिक्त दिया जाएगा. इसके अलवा वित्त मंत्री ने महिलाओं, सीनियर सिटिजंस, विधवाओं, दिव्यांगों और मजदूरों के लिए भी कई घोषणाएं की हैं.

लॉकडाउन के बीच पेट्रोल-डीज़ल पर प्रशासन का बड़ा फैसला, जारी किया ये आदेश

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के बीच गरीबों की मुसीबतें कम करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को 1,70,000 करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है. इसके अलावा सरकार ने इस महामारी के समय में अग्रीम पंक्ति में काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों जैसे लोगों के लिए 50 लाख रुपये के बीमा का भी ऐलान किया है. 

निर्मला सीतारमण की प्रेस वार्ता शुरू, आर्थिक पैकेज को लेकर हो सकता है बड़ा ऐलान

इस समय राशन कार्ड धारकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा निधि एक्ट (NFSA) के तहत  उच्च सब्सिडी के साथ दो रुपये प्रति किलो गेहूं और तीन रुपये प्रति किलो चावल पर राशन वितरित किया जाता है. लॉकडाउन के 36 घंटे बाद ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 1.7 लाख करोड़ की प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को अतिरिक्त फ्री राशन देने की घोषणा की गई है. राशन कार्ड धारक गेहूं/चावल और दाल को पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम (PDS) से दो किश्तो में ले सकते हैं.

करियर हुआ ठप्प तो बहन के पति के साथ बिजनेस कर रही है यह एक्ट्रेस

कोरोना और लॉकडाउन का असर, कौड़ियों के भाव बिकने लगेगा तेल

लॉकडाउन के बीच LPG सिलिंडरों के लिए मची मारामारी, 200 फीसद बढ़ गई बुकिंग