सिद्धू के नापाक बयान पर फूटा गजेंद्र चौहान का गुस्सा, कहा फिल्म सिटी में घुसने नहीं देंगे

मुंबई: पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले के खिलाफ लोगों में गम और आक्रोश है. विशेषकर पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्‍तान पर दिए गए बयान ने इस आक्रोश में आग में घी डालने का काम किया है. पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए रविवार को मुम्बई का फ़िल्म सिटी बंद रहा था.

बीजेपी और शिवसेना के बीच बनी सीटों पर सहमति, शाम तक औपचारिक घोषणा संभव

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज ने इस बंद की घोषणा की थी. इसमें हजारों की तादाद में फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़े टेक्नीशियन, प्रोड्यूसर, एक्टर्स शहीदों को श्रद्धांजलि दी थी. साथ ही इंडस्ट्री से सम्बंधित लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए. इस अवसर पर जनरल बाजवा, हाफिज सईद, इमरान खान के विरुद्ध भी नारेबाजी की गई थी, साथ ही पोस्टर व पाकिस्तान के झंडे जलाए गए. फेडरेशन ऑफ़ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज ने बॉलीवुड को भी चेतावनी दी थी. फि‍ल्‍मकार अशोक पंडि‍त ने कहा है कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद अब किसी भी बॉलीवुड फ़िल्म में पाकिस्तानी कलाकारों को शामिल न करें और अगर कोई उन्हें काम देता है तो फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लाइज पूरे देश में इसके खिलाफ विरोध करेगी. फ़िल्म सेट पर पहुंचकर उन्हें काम करने से रोकेगी. 

पुलवामा हमले: भाजपा नेता राजा सिंह का विवादित बयान, सानिया मिर्जा को बताया 'पाकिस्तान की बहु'

उन्होंने कहा था कि अगर कोई म्यूजिक कंपनी पाकिस्तानी कलाकारों को काम देती है तो उनके साथ भी वही हश्र किया जाएगा. वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता गजेंद्र चौहान ने नवजोत सिंह सिद्धू के बयान पर तीखा पलटवार करते हुए कहा है कि सिद्धू का कोई ईमान धर्म नहीं है. ये आदमी अब देश बदलने की तैयारी में लगा हुआ है. सिद्धू जैसे नापाक लोगों को अब हम फ़िल्म सिटी में नहीं घुसने देंगे.

खबरें और भी:-

पुलवामा हमले पर गरजे पीएम मोदी, कहा अब गुजर चुका है बातचीत का समय

किरण बेदी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे सीएम नारायणसामी को मिला केजरीवाल का साथ

पुलवामा हमले के बाद से घबराया पाक, अपने उच्चायुक्त को बुलाया वापस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -