विदेशी मुद्रा भंडार में हुई रिकॉर्ड बढ़ोतरी, जानें कैसे

विदेशी मुद्रा भंडार में हुई रिकॉर्ड बढ़ोतरी, जानें कैसे

 

पीएम मोदी ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 24 मार्च से लॉकडाउन किया था. जिसमें ​छूट देने के बाद तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है. वही, भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर अब तक के उच्चतम स्तर पर आ गया है. देश का विदेशी मुद्रा भंडार 29 मई को समाप्त हुए सप्ताह में मुख्य मुद्रा परिसंपत्तियों की अच्छी अभिवृद्धि के चलते 3.43 अरब डॉलर की बढ़त के साथ 493.48 अरब डॉलर के नए उच्चतम स्तर पर आ गया है. भारतीय रिज़र्व बैंक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है.

आसानी से मिल जाएगा इंश्योरेंस पॉलिसी का क्लेम, बस ध्यान में रखे ये ख़ास बातें

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस के प्रभाव से जूझ रहे देश के लिए विदेशी मुद्रा भंडार एक प्रमुख मजबूत पहलू बनकर उभरा है. देश का विदेशी मुद्रा भंडार इससे पहले के सप्ताह में 3 अरब डॉलर की बढ़त के साथ 490.044 अरब डॉलर पर आया था, जो कि उस समय का उच्चतम स्तर था.

जियो प्‍लैटफॉर्म्‍स में निवेश करने सामने आई एक और दिग्गज कंपनी

इसके अलावा आरबीआई द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 29 मई को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान समग्र भंडार में एक मुख्य घटक विदेशी मुद्रा एसेट्स में 3.50 अरब डॉलर की वृद्धि हुई और यह 455.21 अरब डॉलर पर पहुंच गया. केंद्रीय बैंक ने बताया कि स्वर्ण भंडार का कुल मूल्य लगातार घट रहा है और यह एक सप्ताह पहले के मुकाबले 97 मिलियन घटकर 32.682 बिलियन डॉलर रहा. वही, 29 मई को समाप्त हुए सप्ताह में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के साथ विशेष आहरण अधिकार 1.43 अरब डॉलर पर अपरिवर्तित रहा, जबकि आईएमएफ के साथ भारत की आरक्षित स्थिति इस सप्ताह के दौरान 31 मिलियन डॉलर बढ़कर 4.16 बिलियन डॉलर रही.

माता सीता पर अश्लील टिप्पणी करने वाले आशिफ खान को Goair ने नौकरी से निकाला

लॉकडाउन में Jio को मिला 6वां बड़ा निवेश, अबुधाबी की ये कंपनी लगाएगी पैसा

कोरोना संकट में सरकार का किसानों को मरहम, इस लोन पर भरना पड़ेगा कम ब्याज