PFI की रैली में हिन्दुओं और ईसाईयों को 'हत्या' की धमकी देने वाले बच्चे का अब्बू गिरफ्तार

कोच्ची: केरल में कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की रैली के दौरान हिंसा और भड़काऊ नारेबाजी करने वाले मुस्लिम बच्चे के अब्बू अशकर अली को कोच्चि के पल्लूरथी स्थित उसके घर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अब उसे अलप्पुझा पुलिस को सौंपा जाएगा, क्योंकि वहीं पर उसके खिलाफ केस दर्ज है। वहीं, बच्चे के पिता का कहना है कि वो PFI का सदस्य नहीं है, मगर उसके कार्यक्रमों में शामिल होता रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पट्टांजली के ACP रविंद्रनाथ ने इस बात की पुष्टि की है कि हिन्दुओं के खिलाफ नारेबाजी करने वाले बच्चे का अब्बू PFI का सक्रीय सदस्य है। इसके साथ ही अशकर अली का कहना है कि बच्चे ने जो भी नारे लगाए थे वो सब सामान्य बात है। उसका दावा है कि CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान भी ऐसे नारे लगाए गए थे। हालाँकि, वो इस बात को ख़ारिज करता है कि ये नारे हिन्दुओं के विरुद्ध लगाए गए थे। गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को ये केरल पुलिस ने कहा था कि भड़काऊ नारेबाजी के मामले में उन्होंने 18 अन्य को भी गिरफ्तार किया है। इससे पकड़े गए लोगों की तादाद बढ़कर 20 हो गई है।

बता दें कि शनिवार (21 मई, 2022) को केरल के अलाप्पुझा में मुस्लिम समूह पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) द्वारा आयोजित की गई एक रैली एक मुस्लिम नाबालिग बच्चे ने हिन्दुओं और ईसाइयों को धमकी दी थी। इसमें उसने कहा था कि, 'चावल तैयार रखो। यम (मृत्यु के देवता) आपके घर आएँगे। अगर आप सम्मानपूर्वक रहते हैं, तो आप हमारी जगह पर रह सकते हैं। यदि नहीं, तो हम नहीं जानते कि क्या होगा।' इस घटना पर आपत्ति व्यक्त करते हुए केरल उच्च न्यायालय ने टिप्पणी की थी, ‘इस देश में क्या हो रहा है?’ जस्टिस पीवी कुन्हीकृष्णन ने कहा था कि यदि रैली के किसी सदस्य ने भड़काऊ नारे लगाए हैं, तो इसके लिए रैली का आयोजन करने वाले लोग भी जिम्मेदार थे।

क्रूरता की हदें पार.., गाय को खिला दिया विस्फोटक, फट गया जबड़ा, तड़प-तड़पकर हुई मौत

जयपुर में एक ही परिवार के 5 लोगों की निर्मम हत्या, कुँए से निकले 3 महिला और 2 बच्चों के शव

दिल्ली में अपराधी बेख़ौफ़, 19 वर्षीय युवक की सरेआम गोली मारकर हत्या

 

Most Popular

- Sponsored Advert -