जिला प्रशासन अब तक हुए मोतियाबिंद के ऑपरेशन की जांच करेगा

प्रदेश में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद मरीजों की आंखों की रौशनी जाने के कुछ मामले सामने आये हैं.  गरियाबंद के देवभाेग से भी मामला सामने आया  है. यहां सात मरीजों की एक आंख की रौशनी चली जाने का का मामला सामने आया है. इससे पहले इस तरह का मामला  बिलासपुर और रायपुर से भी सामने आ चुका है. रायपुर से मामला सामने आने के बाद  गरियाबंद में जिला प्रशासन जांच करवायी. शुरूआती जांच में   सात मरीज सामने आये हैं. बताया जाता है कि इन सात मरीजों में से कुछ मरीजों के आंखों की रौशनी पूरी तरह चली गई है. 


रायपुर में एम्स अस्पताल में मोतियाबिंद की सर्जरी के बाद कुछ मरीजों की आंखों की रौशनी जा चुकी है. रायपुर से पहले  बालोद में से भी  मामला सामने आ चुका है. इन मामलो के सामने आने के बाद ही  प्रदेश में गरियाबंद में जिला प्रशासन ने मामले की जांच प्रारम्भ कराई है. 

अब यहां जिला प्रशासन ने पिछले दो साल के दौरान  मोतियाबिंद की सर्जरी की जांच का निर्णय लिया है. प्रशासन इस जांच को अपने स्तर पर करेगा. स्वास्थ्य विभाग की ओर से गरियाबंद क्षेत्र के कुछ अस्पतालों को नोटिस भेजकर जानकारी मांगी गई है कि उनके अस्पताल में किन मरीजों की कब मोतियाबिंद सर्जरी की गई है.

छत्तीसगढ़ : नक्सली हमले में 5 जवान शहीद, 1 गंभीर घायल

रायपुर से अभी भी नहीं चल पा रही है ये ट्रेनें

कांसाबेल में मुख्यमंत्री ने जनता को संबोधित किया

 

    

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -