कितनी शिक्षा, क्या हैं आपराधिक मामले ! जानिए राजस्थान के नए सीएम भजनलाल के बारे में सबकुछ

कितनी शिक्षा, क्या हैं आपराधिक मामले ! जानिए राजस्थान के नए सीएम भजनलाल के बारे में सबकुछ
Share:

जयपुर: हाल ही में एक घोषणा में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भजन लाल शर्मा को राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में चुना है। यह निर्णय ब्राह्मण चेहरे शर्मा पर पार्टी के भरोसे को दर्शाता है, जो लंबे समय से संगठन में सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं। इससे पहले चार बार राज्य महासचिव के रूप में कार्य करते हुए, शर्मा के पार्टी में महत्वपूर्ण योगदान ने उन्हें मुख्यमंत्री का पद दिलाया।

सांगानेर में चुनावी जीत

हाल के चुनाव में पहली बार, भाजपा ने मौजूदा विधायक अशोक लाहोटी की जगह जयपुर के सुरक्षित निर्वाचन क्षेत्र सांगानेर से भजन लाल शर्मा को मैदान में उतारा। शर्मा ने कांग्रेस उम्मीदवार पुष्पेंद्र भारद्वाज को 48,081 वोटों से हराकर बड़ी जीत हासिल की।

शैक्षिक पृष्ठभूमि और कानूनी मामले

भरतपुर के रहने वाले भजन लाल शर्मा के पास राजस्थान विश्वविद्यालय से राजनीति में स्नातकोत्तर की डिग्री है, जो 1993 में अर्जित की गई थी। हालांकि, उनके खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत दो कानूनी मामले लंबित हैं। एक मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 353 शामिल है जो एक लोक सेवक को उसके कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल से संबंधित है, और दूसरा मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 149 के तहत दर्ज किया गया है, जो गैरकानूनी सभा के दोषी प्रत्येक सदस्य से संबंधित है। किसी सामान्य उद्देश्य के अभियोजन में किया गया अपराध।

वित्तीय विवरण

विधानसभा चुनाव के दौरान जमा किए गए हलफनामे के मुताबिक, भजन लाल शर्मा की कुल संपत्ति 1.40 करोड़ रुपये और देनदारी 35 लाख रुपये है। उनकी वित्तीय प्रोफ़ाइल में 1,15,000 रुपये नकद, लगभग 11 लाख रुपये बैंक जमा और 1,80,000 रुपये मूल्य का तीन तोला सोना शामिल है। इसके अतिरिक्त, उनके पास एलआईसी और एचडीएफसी लाइफ की दो बीमा पॉलिसियां ​​हैं, जिनकी कीमत 2,83,817 रुपये है। मुख्यमंत्री के पास एक टाटा सफारी (5 लाख रुपये) और एक टीवीएस विक्टर मोटरसाइकिल (35,000 रुपये) भी है।

कांग्रेस के आरोप और चुनाव परिणाम

चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पार्टी ने भजनलाल शर्मा पर बाहरी होने का आरोप लगाते हुए सांगानेर में मतदाताओं से बाहरी उम्मीदवार को हराने की अपील की. इन आरोपों के बावजूद, शर्मा विजयी हुए, जिससे मतदाताओं के बीच उनकी लोकप्रियता और स्वीकार्यता प्रदर्शित हुई।

वैगन आर का मजाकिया अंदाज में डिजायर: मारुति आइकन्स की हंसी-मजाक की लड़ाई!

कार कंपनियों के गले का कांटा बन चुकी हैं ये गाड़ियां! दीपक लेकर घूम रही कंपनी, अभी भी नहीं मिल रहे ग्राहक

अगर ये वॉर्निंग लाइट्स ड्राइवर के डिस्प्ले पर आ जाएं तो तुरंत एक्शन में आ जाएं, लग सकती है आग

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -