डाटा चुराया, तो चुकाना पड़ेगा 15 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। आजकल साइबर क्राइम को लेकर कई तरह की खबरें सामने आती रहती हैं। कई बार तो संवेदनशील जानकारी हैक होने की खबरों से हलचल मच जाती है। अब सरकार ऐसे हैकर्स या छेड़छाड़ करने वाले लोगों पर लगाम लगाने की तैयारी कर रही है। इस मामले को लेकर सरकार ने एक समिति बनाई थी। इस समति ने सरकार को अपनी सिफारिशें सौंप दी हैं। 

सदन में वेणुगोपाल ने उछाला नीट डाटा लीक का मुद्दा


जस्टिस श्रीकृष्ण समिति ने सरकार को सौंपी अपनी सिफारिश में कहा कि संवेदनशील जानकारी में सेंधमारी करने वालों पर 15 करोड़ रुपये तक का जुर्माना लगाया जाना चाहिए। डाटा संरक्षण को लेकर समिति ने 14 निजी जानकारियों को संवेदनशील जानकारी बताया है। अपनी रिपोर्ट में समिति ने कहा कि  संवेदनशील जानकारी से छोड़छाड़ करने वाले या इसमें सेंधमारी करने वाले  व्यक्ति या ​संस्था को देखते हुए जुर्माना लगाया  जाना चाहिए। समिति ने कहा कि सरकार इन पर 1 करोड़ से लेकर 15 करोड़ रुपये तक जुर्माना लगा सकती है। समिति ने अपनी रिपोर्ट 213 पन्नों में सौंपी है। रिपोर्ट में जिस संस्था या व्यक्ति का डाटा चोरी हुआ, उसे मुआवजा देने की सिफारिश भी की गई है। 

NEET डाटा लीक पर भड़के राहुल, जाँच की मांग की

रिपोर्ट में बच्चों से लेकर एडल्ट तक सबके लिए डाटा संरक्षण के नियम बनाने को भी कहा गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी अगर डाटा संरक्षण के नियम तोड़ती है, तो उस पर 15 करोड़ का जुर्माना  लगाने के साथ ही मुकदमा भी चलाना चाहिए। हालांकि  इस मामले में  सरकारी कंपनियों और सार्वजनिक हित की कंपनियों को छूट दी गई है। 

खबरें और भी

अब इन कारणों से facebook पर होगी बड़ी कार्यवाही

देशद्रोह के आरोप में व्हाट्सएप्प ग्रुप एडमिन को जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -