100 भारतीय वॉलंटियर्स पर होगा कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V का टेस्ट, DCGI ने दी अनुमति

100 भारतीय वॉलंटियर्स पर होगा कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V का टेस्ट, DCGI ने दी अनुमति

मास्को : भारत के 100 वॉलंटियर्स पर रूस की कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V का परिक्षण किया जाएगा। इंडियन सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन के ड्रग कंट्रोलर जनरल (DCGI) ने रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक से गुरुवार को बातचीत करने के बाद इस बात की जानकारी  दी है। DCGI ने दवा निर्माण की दिग्गज कंपनी डॉ. रेड्डी के प्रयोगशालाओं को इस टीके का टेस्ट करने की इजाजत दी है। 

हालांकि, स्पुतनिक V का परिक्षण कब करना है इसके संबंध में फैसला कंपनी करेगी। समाचार एजेंसी ने संगठन के हवाले से कहा कि क्लिनिकल ट्रायल के दूसरे टेस्ट के दौरान वैक्सीन का परिक्षण किया जाएगा। इसके बाद यह वैक्सीन अपने परीक्षण के तीसरे चरण में प्रवेश करेगी। पिछले हफ्ते DCGI की एक्सपर्ट कमेटी ने रूसी की कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की टेस्टिंग भारत में करने की सिफारिश की थी। DCGI का कहना है कि भारत में टेस्टिंग डॉ. रेड्डी की लैब्स में हो सकता है। एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, डॉ. रेड्डी की लैब्स ने कहा है कि क्लिनिकल ट्रायल के दूसरे चरण में वह '100 लोगों पर और तीसरे चरण में 1400 लोगों पर टेस्टिंग करेगी।' 

अधिकारी ने कहा, 'दवा कंपनी की तरफ से दूसरे चरण की सुरक्षा एवं प्रतिरोधात्मक डाटा सौंपे जाने के बाद एक्सपर्ट पैनल की ओर से इसका विश्लेषण किया जाएगा और इसके पश्चात वे तीसरे चरण के ट्रायल के लिए आगे बढ़ सकते हैं।' बता दें कि भारतीय दवा कंपनी ने स्पुतनिक V का क्लिनिकल ट्रायल करने एवं इसके वितरण के लिए रूस की डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड (RDIF) के साथ अनुबंध किया है। RDIF के अनुसार वैक्सीन तैयार हो जाने पर वह भारत को 10 करोड़ टीका मुहैया कराएगा।

विश्व जूनियर बैडमिंटन चैम्पियनशिप कोरोना के कारण हुई रद्द

ऑक्सफोर्ड कोरोना वैक्सीन परीक्षणों में गई एक पुरुष जान

ट्रम्प ने चुनाव के बाद FBI के निदेशक को किया बर्खास्त