पादरियों ने की चर्च हमले की निंदा

Apr 17 2015 12:57 PM
पादरियों ने की चर्च हमले की निंदा
उत्तर प्रदेश / मथुरा : मथुरा के ईसाई पादरियों ने गुरुवार को आगरा के 95 वर्ष पुराने सेंट मेरी गिरजाघर पर हुए हमले के बाद शुक्रवार को सुरक्षा को लेकर चिंता व्यक्त की। पादरियों को डर है कि असामाजिक तत्वों द्वारा उन पर भी हमला किया जा सकता है। मथुरा जिले के जैत गांव के गिरजाघर के पादरी साजी ने कहा, "ये उग्र असामाजिक तत्व किसी पर भी आसानी से हमला कर सकते हैं। 

केंद्र में नई सरकार के अंदर ये हमले अधिक तेज हो गए हैं।" फादर साजी ने कहा कि हाल ही में गिरजाघरों पर हमले के बाद जिला प्रशासन ने सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए। मथुरा जिले में विभिन्न संप्रदाय लगभग दर्जन भर गिरजाघर और शैक्षणिक संस्थान चलाते हैं। लेकिन उनकी सुरक्षा ढीली है। आगरा में ईसाइयों ने प्रशासनिक उपेक्षा के विरोध में गुरुवार शाम को मोमबत्तियों के साथ मार्च किया। 

ईसाई समूह के प्रमुखों ने कहा कि ये विरोध प्रदर्शन तब तक जारी रहेंगे, जब तक की दोषियों को पकड़ा नहीं जाता। आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश मोदक ने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है, पुलिस की चार टीमें इस काम में लगी हैं और संदिग्धों को जल्द ही पकड़ा जाएगा। चर्च के पादरी मून लैजेरस ने हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने इन दोषियों को मानसिक रूप से पीड़ित बताया।