चीन के इस कदम से टूट जाएगी अमेरिका की कमर, होगा अरबों का नुकसान

May 30 2019 01:26 PM
चीन के इस कदम से टूट जाएगी अमेरिका की कमर, होगा अरबों का नुकसान

बीजिंग: व्यापर युद्ध के बीच चीन अमेरिका को करारा झटका देने की तैयारी कर रहा है. चीन ने संकेत दिए हैं कि वो जल्द ही अमेरिका को निर्यात किए जाने वाले रेयर अर्थ मिनरल का सीमित कर देगा जिससे अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है. बताया जा रहा है कि रेयर अर्थ मिनरल में 16 तत्व आते हैं, जो विश्व में चुनिंदा जगहों पर ही मिलते हैं. इनका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑयल रिफाइनरी, ग्लास इंडस्ट्री आदि में किया जाता है. 

विश्व में सबसे अधिक रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन चीन में होता है. चीन अकेला 70 फीसद रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन करता है. इसके अलावा 30 फीसद रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन म्यांमार, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, अमेरिका जैसे देशों में होता है. विशेषज्ञों का कहना है कि चीन अगर अमेरिका को रेयर अर्थ मिनरल का निर्यात कम कर देता है, तो इससे अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हो जाएगा. क्योंकि अमेरिका अपनी आवश्यकता का 80 फीसद रेयर अर्थ मिनरल चीन से ही मंगवाता है. 

देखा जाए तो अमेरिका प्रोसेस्ड रेयर अर्थ का भी इम्पोर्ट करता है जो एस्टोनिया, फ्रांस और जापान से आता है. किन्तु, अयस्क (ओर) के रूप में यह चीन से ही आयत किया जाता है.  चीन अगर रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन कम करता है तो अमेरिका के लिए मलेशिया एक विकल्प रहेगा. किन्तु, मलेशिया चीन के जितना रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन नहीं करता है और दूसरी बात यह कि मलेशिया भी पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए रेयर अर्थ मिनरल का उत्पादन कम करने की बात पहले ही कह चुका है. 

पाकिस्तान में जोर पकड़ रहा पश्तून आंदोलन, उठ रही पत्रकार गौहर वजीर की रिहाई की मांग

आज फिर लंदन अदालत के समक्ष पेश होगा भगोड़ा अपराधी नीरव मोदी

बांग्लादेश के खिलाफ मिली जीत से खुश होकर विराट ने की इस खिलाड़ी की जमकर तारीफ