लॉकडाउन से राजस्व को हुआ नुकसान, अब खर्च घटाकर पूर्ति करेगी छत्तीसगढ़ सरकार

रायपुर: छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने कोरोना महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के चलते राजस्व प्राप्ति में कमी को देखते हुए विभिन्न विभागों के खर्चे में कटौती कर रही है। छत्तीसगढ़ के सरकारी विभागों राज्य शासन द्वारा आवंटित बजट का पूरे साल में 100 फीसद की जगह 70 फीसद ही खर्च कर सकेंगे।

विभागों को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए जारी किए गए बजट को साल के चार तिमाहियों में खर्च करने की पूर्व निर्धारित सीमा में भी बदलाव किया गया है। छत्तीसगढ़ वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव द्वारा इस बारे में सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों, अध्यक्ष राजस्व मंडल बिलासपुर और तमाम विभागाध्यक्षों को आदेश जारी कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आदेश के अनुसार, विभिन्न विभागों के लिए प्रथम तिमाही में व्यय की सीमा 25 फीसद को संशोधित कर 10 फीसद कर दी गई गई है।

वहीं द्वितीय तिमाही में खर्च की सीमा 15 प्रतिशत को घटाते हुए 10 प्रतिशत, तृतीय तिमाही में खर्च की सीमा 25 प्रतिशत को संशोधित कर 20 प्रतिशत और चतुर्थ तिमाही में व्यय की सीमा 35 प्रतिशत को संशोधित कर 30 प्रतिशत किया गया है। मतलब राज्य की शत-प्रतिशत खर्च की सीमा को संशोधित कर 70 प्रतिशत किया गया है।

लॉकडाउन में दम तोड़ता बनारस का पान कारोबार, अब तक झेल चुका करोड़ों का नुकसान

देश के दो सबसे बड़े बैंकों ने ग्राहकों को दिया झटका, FD पर घटाई ब्याज दर

आखिर क्यों 'पीएफ' की रकम मिलने में हो सकता है विलंब ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -