मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: नितीश कुमार की मुश्किलें बढ़ीं, जांच करेगी CBI

पटना: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम दुष्कर्म मामले में सीएम नीतीश कुमार भी जांच के दायरे में आ गए हैं। मामले को देख रही विशेष पॉक्सो अदालत ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को मुजफ्फरपुर शेल्टर होम दुष्कर्म मामले में नीतीश कुमार के खिलाफ जांच के आदेश जारी किए हैं। सीएम नीतीश कुमार के विरुद्ध जांच के आदेश के चलते मामले में नया ट्विस्ट आ गया है। 

पुलवामा हमले को लेकर व्हॉट्सएप पर लिख दिया 'पाकिस्तान जिंदाबाद', गिरफ्तार

मामले के गिरफ्तार किए गए आरोपी डॉ. अश्विनी ने अपने वकील के माध्यम से शेल्टर होम के संचालन में सीएम नीतीश कुमार की भूमिका की जांच के लिए अर्जी दायर की थी। उल्लेखनीय है कि अश्विनी को गत वर्ष नवंबर महीने में गिरफ्तार कर लिया गया था। अश्विनी पर शेल्टर होम की नाबालिग लड़कियों को ड्रग्स का इंजेक्शन देने का आरोप है।  

बेहद रोमांचक होगा राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला

अश्विनी ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि सीबीआई तथ्यों को दबाने का प्रयास कर रही थी, जिसमें मुजफ्फरपुर के पूर्व डीएम धर्मेंद्र सिंह, वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अतुल कुमार सिंह और सूबे के सीएम नीतीश कुमार की भूमिका पर जांच होनी चाहिए थी। पॉक्सो न्यायाधीश मनोज कुमार ने सीबीआई को इन तीनों के विरुद्ध जांच के खिलाफ के आदेश दिए। 7 फरवरी को मामला मुजफ्फरपुर अदालत से दिल्ली विशेष पॉक्सो कोर्ट में स्थानांतरित हुआ था और अगले हफ्ते से मामले की सुनवाई शुरू होने की संभावना जताई जा रही है। 

खबरें और भी:-

सिंधु ने जीत के साथ किया सीनियर राष्‍ट्रीय बैडमिंटन प्रतियोगिता का आगाज

आरबीआई ने चार गवर्नमेंट बैंकों पर ठोंका पांच करोड़ का जुर्माना

अजमेर में आयोजित सेवादल की बैठक में राहुल ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -