महिला अफसर की शर्मनाक हरकत, शौचालय निर्माण के नाम पर लेती थी रिश्वत,

Feb 19 2020 10:09 AM
महिला अफसर की शर्मनाक हरकत, शौचालय निर्माण के नाम पर लेती थी रिश्वत,

छतरपुर: लोकायुक्त पुलिस ने छतरपुर में एक महिला अफसर को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्त कर लिया. गिरफ्तारी के पश्चात भी वह महिला अफसर मुस्कुराती रही. मानो उसने कोई गुनाह किया ही नहीं हो. स्वच्छ भारत मिशन की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी को लोकायुक्त पुलिस ने उनके ही दफ्तर में रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया, लेकिन इस मामले में बाद में उन्हें जमानत मिल गई है.

वही छतरपुर जिले के सरानी गांव में शौचालय निर्माण का काम चल रहा है. वहीं रोजगार सहायक जितेंद्र सिंह शौचालयों के निर्माण के पश्चात् फोटो सत्यापित कर हितग्राही के खाते में रुपये डालने के लिए लगातार नीलम तिवारी के कार्यालय का चक्कर काट रहा थे, परन्तु ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी लगातार उससे पैसे की मांग कर रही थी. जिससे परेशान होकर रोजगार सहायक ने लोकायुक्त पुलिस से शिकायत कर दी . लोकायुक्त की टीम ने शुरुआती जांच इस मामले को सही पाया है. 

रोजगार सहायक ने हितग्राहियों के खाते में शौचालय निर्माण की राशि डालने के लिए महिला अफसर से 500 रुपये प्रति शौचालय की दर से रिश्वत की राशि तय की गई थी.13 शौचालय की राशि के बदले महिला अफसर ने 6500 रुपये की मांग की थी. इस रोजगार सहायक ने पहले एक हजार रुपये की राशि का भुगतान कर दिया था. बीते मंगलवार को वह अपने ऑफिस में 5500 रुपये ले रही थी. उसी समय लोकायुक्त की पुलिस ने उसे रंगेहाथ पकड़ लिया है. लोकायुक्त पुलिस की टीम ने महिला अधिकारी के बैग से स्याही लगे हुए रुपये भी पाए हुए है. वहीं, उप पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार खेड़े विपुस्था ने बताया कि शौचालय निर्माण की राशि रिलीज करने के लिए वह रिश्वत ले रही थीं. इस मामले की शिकायतकर्ता के आरोपों की जांच की गई तो मामला सही निकला पाया गया है. उसके पश्चात् महिला अधिकारी को लोकायुक्त की पुलिस ने ट्रैप किया है.

भयानक सड़क हादसे में हुई दिल्ली के 2 नेताओं की मौत, एक ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ लड़ा था चुनाव

तो क्या फिर टल जाएगी आरोपियों की फांसी, क्या इस बार भी नहीं मिलेगा निर्भया को इंसाफ

फेम इंडिया मैगजीन और एशिया पोस्ट सर्वे ने जारी की 25 सशक्त महिलाओं की सूची