भोपाल में लगातार दूसरे दिन सबसे ज्यादा मिले मरीज, इंदौर भी नहीं है पीछे

भोपाल: मध्यप्रदेश में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। सरकार अपना पूरा जोर लगाकार इसे रोकना चाह रही है लेकिन कुछ भी नहीं हो पा रहा है। ग्वालियर और जबलपुर में 5-5 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हो गए हैं और अब सब कुछ हाथ से निकलता दिखाई दे रहा है। वहीं भोपाल और इंदौर में यह संख्या 10-10 हजार से ज्यादा है। बीते 24 घंटे में इन चारों बड़े शहरों में 5,152 नए संक्रमित मिले हैं और 25 मरीजों की मौत हुई है।

मिली जानकारी के तहत भोपाल में सबसे ज्यादा 1,669 नए केस आए हैं, वहीं अगर इंदौर-जबलपुर के बारे में बात करें तो यहाँ सबसे ज्यादा 7-7 की मौत हुई है। अब यह कहा जा सकता है कि इंदौर में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ाया जा सकता है। वहीं बात करें दमोह की तो यहाँ एक महीने पहले रिटायर्ड हुए अपर कलेक्टर आनंद कोपरिहा की कोरोना से मौत हो गई है जिसके बाद से स्थिति भयावह बनी हुई है। सबसे अच्छी और बेहतर बात यह है कि खंडवा, बुरहानपुर, देवास और छिंदवाड़ा में संक्रमण की दर घटने लगी है।

यहाँ पर तेजी से केस घट रहे हैं। अब खंडवा में पॉजिटिविटी रेट 4.6% हो गया है। वहीं महाराष्ट्र बॉर्डर पर होने के बाद भी बुरहानपुर में भी कोरोना पर कंट्रोल हुआ है। जी दरअसल यहां पर पॉजिटिविटी रेट 4.90% है। वहीं बात करें छिंदवाड़ा जिले की तो यहाँ पॉजिटिविटी रेट 9.73% रह गया है और देवास में पॉजिटिविटी रेट 6.91% पर आ गई है।

गुजरात सरकार को HC ने लताड़ा, कहा- कोरोना के असली आंकड़े छिपाने से पैदा होगा डर

चारा घोटाला: जेल से बाहर आएँगे लालू यादव, रांची हाई कोर्ट में मंजूर की जमानत

पुर्तगाली सरकार ने महामारी को लेकर किया ये बड़ा ऐलान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -