Bharat eMarket होगा बहुत बड़ा E-Commerce प्लेटफॉर्म, जानें क्या है अलग

भारत में लॉकडाउन और कोरोना संकट के बीच खुदरा कारोबारियों के संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) का E-Commerce प्लेटफॉर्म Bharat eMarket अगले एक माह के भीतर लांच करने वाला है. CAIT के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी. खंडेलवाल ने कहा कि इस पोर्टल को लेकर काम बहुत तेजी से चल रहा है और विक्रेताओं का रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है. संगठन ने पिछले सप्ताह पोर्टल के नाम का खुलासा किया था. ड्रिस्ट्रिब्यूटर्स, थोक विक्रेताओं, ब्रांड्स, रिटेलर्स से लेकर छोटे कारोबारी तक Bharat eMarket के जरिए सामानों की बिक्री के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. Bharat eMarket अभी ग्रॉसरी की ऑनलाइन बिक्री के साथ शुरुआत करेगी और बाद में अन्य श्रेणी के सामान को भी प्लेटफॉर्म पर लिस्ट करेगा 

शेयर बाज़ार में आया भूचाल, 2000 अंक से ज्यादा टूटा सेंसेक्स

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि CAIT के इस मार्केट प्लेस का मुकाबला Flipkart, Amazon, Snapdeal और रिलायंस के आने वाले JioMart जैसी दिग्गज कंपनियों से होगा. कैट भारत सरकार के डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) के साथ साझेदारी में इस पोर्टल को लांच करेगा. 

दिल्ली से इस देश के लिए उड़ेगी पहली फ्लाइट, शुरू हुई टिकट बुकिंग

अगर आपको नही पता तो बता दे कि पोर्टल पर सामान सर्च करने पर आपको सबसे पहले आपके पांच किलोमीटर के एरिया की दुकान से सामान खरीदने का ऑप्शन मिलेगा.

आपको दो घंटे के भीतर सामान की डिलिवरी मिल जाएगी.

इस पोर्टल से सामान मंगाने के लिए आपको डिलिवरी चार्ज नहीं देना होगा.

खंडेलवाल ने इस पोर्टल के बारे में जोर देकर कहा कि यह पूरी तरह से स्वदेशी पोर्टल होगा और इसमें एक रुपये का भी विदेशी निवेश नहीं होगा. 

कैट विक्रेताओं से किसी तरह का कमीशन या शुल्क नहीं लेगा.

खंडेलवाल ने इससे पहले बताया था कि CAIT प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी, 

लखनऊ, कानपुर और बेंगलुरु में इस प्लेटफॉर्म को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू कर चुका है. उनके मुताबिक इस प्रोजेक्ट को रिटेलर्स, वितरकों और ग्राहकों का जबरदस्त रेस्पांस मिला है. उन्होंने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट से मिली सीख का इस्तेमाल करके सेवाओं को और बेहतर बनाया जाएगा.

लॉकडाउन में भारत ने आयात किया 50 किलों सोना, जानें पूरी रिपोर्ट

EMI माफ़ हो, सरकार चुकाए क़र्ज़, केंद्र को अभिजीत बनर्जी ने दिया सुझाव

50 दिनों बाद बढे पेट्रोल-डीज़ल के दाम, यहाँ जानिए नई कीमतें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -