टोक्यो पैरालम्पिक में भारत को स्वर्ण दिलाने वाली अवनी लेखरा राजस्थान में इस अभियान की बनी ब्रांड एंबेसडर

राजस्थान सरकार ने टोक्यो पैरालिंपिक में स्वर्ण पदक विजेता अवनि लेखरा को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए राज्य का ब्रांड एंबेसडर चुन लिया गया है। महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने मंगलवार को कहा कि उनके विभाग को अभियान के लिए अभियान के मेजबान के रूप में लेखरा का नाम लेते हुए खुशी हो रही है।

महिला एवं बाल विकास विभाग की वरिष्ठ सचिव श्रेया गुहा के अनुसार लेखरा की सगाई से लड़कियों की शिक्षा के लिए समाज में एक सक्षम माहौल तैयार होगा। 19 वर्षीय अवनि लेखरा जयपुर की रहने वाली हैं और 2012 में एक दुर्घटना के बाद व्हीलचेयर के साथ अपनी आगे की जिंदगी बिता रही है।  जी हां कुछ समय पहले एक दर्दनाक घटना में घायल हुई अवनि ने की रीढ़ की हड्डी में चोट आने से उनके कमर के नीचे का हिस्सा पूरी तरह से लवके से ग्रस्त हो गया, जिसके बाद से वह कभी भी चल नहीं पाएंगी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने टोक्यो स्पर्धा में पदक जीतने वाले राज्य के तीन खिलाड़ियों के लिए नकद पुरस्कार की घोषणा की। अवनि को निशानेबाजी में स्वर्ण जीतने पर 3 करोड़, भाला फेंक में रजत जीतने पर देवेंद्र झाझरिया को 2 करोड़ और इसी स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने पर सुंदर सिंह गुर्जर को 1 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। तीनों खिलाड़ियों को राज्य वन विभाग में सहायक वन संरक्षक के पद पर पहले ही नियुक्त किया जा चुका है।

महज 10 दिनों में 45 बच्चों की मौत, फ़िरोज़ाबाद में जानलेवा डेंगू का कहर

अब मध्यप्रदेश में शराब खरीदने पर मिलेगा बिल, नहीं देने पर कर सकेंगे दुकानदार की शिकायत

मैग्सेसे पुरस्कार 2021 के नामों का हुआ ऐलान, इन पांच हस्तियों को मिलेगा सम्मान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -