'मैं पहले मुसलमान हूँ, बाद में भारतीय..', कहने वाले माविया अली को अखिलेश ने देवबंद से बनाया उम्मीदवार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी में उम्मीदवारी को लेकर घमासान मचा हुआ है। राज्य के दवबंद सीट से पार्टी ने अपने उम्मीदवार को बदलकर माविया अली (Maviya Ali) को टिकट दे दिया और अंतिम दिन उन्होंने अपना नामांकन भी भर दिया। इसको लेकर कार्तिकिये राणा और अली के बीच टकराव शुरू हो गया है। इसके पहले मुजफ्फरनगर में सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ऐलान किया था कि राणा ही इस सीट से पार्टी के उम्मीदवार होंगे।

बता दें कि माविया अली वही शख्स हैं, जिन्होंने 2017 में कहा था कि, 'मैं पहले मुसलमान हूँ, उसके बाद भारतीय। कोई हमारे ऊपर जबरदस्ती नहीं कर सकता।' माविया अली के इस बयान पर काफी विवाद भी हुआ था। शुक्रवार (28 जनवरी 2022) को अली ने कहा कि वही पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी हैं। सपा में उम्मीदवार के बदलाव की बात सामने आने के बाद अली के समर्थकों ने ढोल-नगाड़े बजाकर मिठाइयाँ बाँटी थी। इस दौरान भारी संख्या में उनके समर्थक जमा हुए थे। बाद में पुलिस ने उन सबको भगाया और कोरोना के उल्लंघन को लेकर 22 नामजद समर्थकों के अलावा 50 अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की थी।

वहीं, इसको लेकर कार्तिकेय राणा ने कहा कि लोगों को अफवाहों से बचना चाहिए। कार्तिकेय राणा 3 दिन पहले समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में पर्चा भरा था। बाद में सपा अध्यक्ष ने माविया अली को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। अली के साथ नामांकन दाखिल करने के लिए पहुँचे सपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगपाल दास गुर्जर ने कहा कि अखिलेश यादव के निर्देश के बाद अली को देवबंद विधानसभा से उम्मीदवार घोषित किया गया। एक ही सीट से दो-दो दावेदारों के आपसी संघर्ष के बाद भी गुर्जर ने कहा कि सपा में कोई गुटबाजी नहीं है।

मुंबई में आज से शुरू होने जा रही है सात दिवसीय शो जंपिंग घुड़सवारी

अर्जेंटीना राष्ट्रपति ने आईएमएफ के साथ नए ऋण उपायों की घोषणा की

टीवी के ‘चाणक्य’ ने भारत को समर्पित किया पद्मश्री, बोले- नेशनलिस्ट क्यों न हों…किसका एजेंडा लें यूएस-यूके का?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -