शहीद की विदाई, यूपी सरकार परिजनों को देगी 50 लाख रुपये

उत्तर प्रदेश में शामली जिले के कैराना क्षेत्र में बदमशों से हुई मुठभेड़ में घायल सिपाही अंकित तोमर का बुधवार देर रात नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में निधन हो गया. गुरुवार को शामली पुलिस लाइन में डीआईजी सहारनपुर, एसपी शामली समेत तमाम प्रशासनिक अधिकारियों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी. हजारों लोगों की भीड़ ने भारत माता की जय के नारों के बीच शहीद को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद सिपाही अंकित तोमर की वीरता और साहस की प्रशंसा करते हुए उनके परिजनों को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है. 40 लाख शहीद की पत्नी और 10 लाख उनके माता-पिता को दिए जाएंगे. शहीद के पिता ने कहा कि उनका बेटा बहादुर था और उन्हें उनकी शहादत पर गर्व है. लेकिन एक पिता होने के नाते दर्द भी है. उन्होंने कहा कि अंकित तोमर बहुत ही बहादुर जवान थे और पूर्व में कई मुठभेड़ों में बहुत से इनामी बदमाश उनके द्वारा पकड़े गए.

बता दें कि कॉन्स्टेबल अंकित मूल रूप से पश्चिम यूपी के बागपत जिले के निवासी थे और वर्तमान में शामली के कैराना में तैनात थे. मंगलवार देर रात पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक लाख रुपए के इनामी बदमाश साबिर जंधेड़ी को मार गिराया था. मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की फायरिंग में अंकित गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिसके बाद नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई. 

पीएम आवास योजना के घर होंगे महिलाओं के नाम

ममता सरकार ने बिहार के सम्मान को ठेस पहुंचाई

किम जोंग के नए प्रशंसक केरल के सीएम पी. विजयन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -