शनि शिंगणापुर के बाद हाजी अली में महिलाओं के प्रवेश को लेकर प्रदर्शन

Jan 29 2016 10:25 AM
शनि शिंगणापुर के बाद हाजी अली में महिलाओं के प्रवेश को लेकर प्रदर्शन

मुंबई : महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर में महिलाओं के प्रवेश पर चल रही बहस के बीच मुंबई स्थित हाजी अली की दरगाह पर भी प्रवेश के लिए महिलाएं आंदोलन पर उतर आई है। गुरुवार को महिलाओं के कई समूहों ने अपनी इस मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। विरोध कर रही इस्लामिक स्टडीज की प्रोफेसर जीनत शौकत अली ने कहा कि महिलाओं पर बंधन किसी धर्म में नही है बल्कि बंधन पितृसत्ता लगाती है।

उन्होने कहा कि मुझे इस्लाम की जानकारी है और इस्लाम में कही भी यह नही लिखा है कि महिलाएं मजार पर नही जा सकती। जब इस्लाम ने हमें हमारे हक से महरुम नही किया तो पुरुष हम पर अपनी क्यों चला रहे है। हिंदू औऱ मुस्लिम दोनों समुदाय में पितृसत्ता है। महिलाओं के साथ भेदभाव इस्लाम के खिलाफ है।

संविधान और इस्लाम दोनों ने हमें बराबरी का अधिकार दिया है। मुस्लिम महिलाओं के हक के लिए लड़ने वाले एक संगठन ने हाजी अली ट्रस्ट पर केस भी कर रखा है। उनका कहना है कि दरगाह के ट्रस्टीज ही औरतों को प्रवेश नही करने देते है।

इस पर हाजी अली दरगाह के ट्रस्टीज का कहना है कि यह एक सूफी संत की कब्र है, इसलिए यहां महिलाओं को प्रवेश करने की इजाजत देना एक गंभीर पाप होगा। ट्रस्टी कहते है, इस्लाम में पुरुषों के संतों के करीब नही जाना चाहिए।