पति की नौकरी बचाने के लिए महिला गर्भपात कराने को मजबूर

पति की नौकरी बचाने के लिए महिला गर्भपात कराने को मजबूर

बीजिंग : चीन में सिंगल चाइल्ड पॉलिसी एक बार फिर विवादों के घेरे में है. यहाँ 41 वर्षीय महिला आठ माह की गर्भवती है और यह उसका दूसरा बच्चा है. अगर वो इस बच्चे को जन्म देती है तो उसके पति की नौकरी चली जाएगी. इस कारण महिला अब गर्भपात कराने की तैयारी कर रही है. महिला का पति पुलिस में अफसर हैं. मामला सामने आने पर हुनान प्रांत के फैमिली प्लानिंग अधिकारियों पर सवाल उठाए जाने लगे हैं. इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर भी बहस छिड़ गई है कि क्या सरकारी नौकरियों में सिंगल चाइल्ड पॉलिसी जबरन थोपी जा रही है? 

क्या है नियम ?

चीन में नियम के अनुसार पति और पत्नी में से किसी को भी यदि एक या उससे ज्यादा भाई-बहन है, तो वह दूसरा बच्चा पैदा नहीं कर सकता और यदि वो ऐसा करता है तो सरकारी नौकरी छोड़नी पड़ती है. साथ ही जुर्माना भी देना होगा. पीड़िता का कहना है कि 'यह मामला इतनी सुर्खियों में आ चुका है कि अब बच्चा अबॉर्ट कर भी दिया तो भी कहीं पति की नौकरी चली जाए। हमें लग रहा था कि कुछ वक्त बाद शायद पॉलिसी बदल जाएगी। फिर हम दूसरा बच्चा पैदा कर लेंगे। लेकिन इस बीच अनचाहे गर्भ ठहर गया.' 

इस बारे में पूछे जाने पर हुनान के फैमिली प्लानिंग अधिकारी वेन जूपिंग ने बताया कि 'हम कोई जबरदस्ती नहीं कर रहे हैं. यह भी सही नहीं है कि नियम तोड़ने के बावजूद दंपती सजा से बचना चाहते हैं. हमें तो शक है कि इसी वजह से उन्होंने सोशल मीडिया पर मामले को तूल दिया है.'