कश्मीर में अभी भी नहीं सुधर रहे है हालात

श्रीनगर : कश्मीर घाटी में हालात अभी भी सामान्य नहीं हुए हैं। केंद्रीय नेताओं के प्रतिनिधिमंडल द्वारा राज्य के हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों का जायजा लेने के बाद भी हिंसक घटनाऐं हो रही हैं। सुरक्षा बलों और पुलिस द्वारा एहतियातन संवेदनशील क्षेत्रों में निगरानी रखी जा रही है। हालात ये हैं कि हिंसक घटनाओं में मरने वालों की तादाद करीब 75 हो गई है। दरअसल कश्मीर के सोपोर क्षेत्र के वादूरा क्षेत्र में 4 सितंबर को सुरक्षा बलों के साथ उपद्रवियों की मुठभेड़ हो गई थी।

इस कार्रवाई में कुपवाड़ा जिले का 17 साल का किशोर मुसैब मजीद घायल हो गया था। जिसे चिकित्सालय में उपचार दिया गया मगर उसकी मौत हो गई। हालात इतने तनावपूर्ण हैं कि अधिकारियों द्वारा स्थिति संभालने के लिए नोहट्टा, खानयार, सफाकदल, एमआर गुंज, रैनावारी व मैसुमा क्षेत्र में कफ्र्यू जैसे प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।

पुलिस द्वारा कहा गया है कि सुरक्षा बलों द्वारा यहां पर अनावश्यक हलचल नहीं होने दी जा रही है वाहनों की आवाजाही को रोक दिया गया है। यही नहीं मोबाईल नेटवर्क बंद कर दिया गया है। माना जा रहा है कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भेंट के बाद स्थिति में कुछ बदलाव आ सकता है।

अपने बेटे को आतंवादी बनाना चाहता है यह सनकी बाप

गृहमंत्री ने PM मोदी से की मुलाकात, दी कश्मीर सर्वदलीय बैठक की जानकारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -